जानें हथेली में बने अर्ध चंद्र का क्या होता राज

0
1872

palm2

कहा जाता है कि मनुष्य की किस्मत उसके हाथों में होती है | मनुष्य के भूत, भविष्य और वर्तमान से सम्बंधित सभी जानकारियाँ ज्योतिष के अनुसार उसके हाथेली की रेखाओं के बने जाल में छिपी होती है लेकिन इन्हें हर किसी के बस की बात नहीं होती है कि इसका राज जान सके क्योंकि हर एक रेखा की अपनी एक अलग कहानी होती है | आइये आज हम आपको बता रहे है आपकी हथेली में बने अर्धचन्द्र के बारे में |

कैसे बनता है अर्धचन्द्र –
आपके हाथो की सबसे छोटी ऊँगली से प्रारंभ होने वाली यह रेखा किसी भी ब्यक्ति के जीवन के बारे में बहुत कुछ बयान करती है | लेकिन यह जानने के लिए आपको सबसे पहले अपने दोनों को हाथों को एक ख़ास तरह से जोड़ना होता है | जैसा की चित्र में दिखाया गया है उसके बाद आप देखें कि आपके हथेली में कैसा एक पैटर्न बन रहा है |

जैसे ही आप अपने हथेली की दोनों ह्रदय रेखाओं को पास लायेंगे तो आप देख पायेंगे की एक ख़ास तरह का अर्धचन्द्र बन रहा है लेकिन यह आवश्यक नहीं है कि हर किसी के हाथ में अर्धचंद्र बनता ही है | बहुत से लोगों के हाथों की रेखाएं आपस में मिलती ही नहीं है | लेकिन इन सभी रेखाओं के अपने ही मतलब होते है |

क्या होता है अर्ध चंद्र का मतलब –
अगर किसी के हाथ में अर्धचन्द्र बन रहा है तो आप जान लीजिये कि ऐसे लोग काफी अट्रैकटिव स्वभाव के होते है | ज्यादातर ये लोग अपने जीवन में किसी ऐसे ब्यक्ति के साथ शेटल हो जाते है जो इनके बचपन का दोस्त होता है या फिर किसी ऐसे ब्यक्ति के साथ जो विदेशों में रहता है | ऐसे लोगों के बारे में यह भी कहा जाता है कि यह प्यार पाने के बहुत इच्छुक होते है लेकिन वे कभी भी इस बात का किसी के सामने प्रकट नहीं करते है | इनका दिमाग बहुत ही तेज चलता है दुनिया की कोई भी मुश्किल इनके सामने बड़ी नहीं होती है | इनके पास हर एक समस्या का समाधान होता है | यह दुनिया कि विषम से विषम हालातों में भी एक बेहतरीन नेत्र्तत्व कर्ता होते है |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY