झारखण्ड : रियल लाइफ “थ्री” नही पर “टू इडियट्स” ने जुगाड़ टेक्नोलॉजी से बचाई बच्चे की जान

0
http://bartex-translators.com/library/elektricheskaya-shema-reno-megan-3.html электрическая схема рено меган 3 1467

образец заполнения аттестата за 11 класс 2016 झारखण्ड : रियल लाइफ “थ्री” नही पर “टू इडियट्स” ने जुगाड़ टेक्नोलॉजी से बचाई बच्चे की जान

http://xn----etbebqprh1cj.xn--p1ai/owner/lechenie-rak-sheyki-matki.html лечение рак шейки матки
झारखण्ड जमशेदपुर के महात्मा गांधी मेमोरियल हॉस्पिटल में प्रसव के पहले गन्दा पानी पी लेने के कारण फेफड़े में पानी चला गया जिससे  बाद में बच्चे ने साँस लेना बंद कर दिया, जिसके कारण बच्चे को वेंटिलेटर में रखने की ज़रूरत थी।
baby-s_650_052915080106
ऐसे में डॉ. मनीष कुमार भारती और डॉ. रविकांत अस्पताल में वेंटिलेटर न होने पर बच्चे की जान बचाने के लिए rs. 60  का पीडिया ड्रिप और rs. 30 का थ्री- वे कैनुला को ऑक्सीजन सीलेंडर से जोड़कर कामचलाऊ वेंटिलेटर बनाया जिससे की बच्चे जान बचाई जा सकी।