भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष कुलदीप वार्ष्णेय ने जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार की जीभ काटने की मांग की है

0
595

जीभ काटने वाले को पांच लाख रुपये का ईनाम देने की घोषणा भी की गई है। भाजयुमो अध्यक्ष के इस बयान के बाद पार्टी हाईकमान के निर्देश पर जिलाध्यक्ष हरीश शाक्य ने उनकी पार्टी से सदस्यता खत्म करने की घोषणा की है।

कुलदीप शुक्रवार को पार्टी की एक बैठक में शामिल होने मथुरा रवाना हुए हैं। जाने से पहले उन्होंने कन्हैया को लेकर अपना बयान दिया।

बयान में स्पष्ट कहा गया है कि मैं इस देश का नागरिक हूं। कन्हैया ने जेएनयू कैंपस में हमारे मातृ-पितृ संगठन आरएसएस, भारतीय जनता पार्टी व पितातुल्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गालियां दीं। साथ ही अन्य लोगों को भारत माता को गाली देने के लिए उकसाया।

उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति में उसने हमारे देश, संगठन व प्रधानमंत्री का अपमान किया है। उसकी जो जीभ है वो कटनी चाहिए। जीभ काटने वाले को पांच लाख रुपये का ईनाम दूंगा।

इस बयान के बाद शनिवार को भाजपा जिलाध्यक्ष हरीश शाक्य ने पूर्व विधायक महेश गुप्ता के आवास पर प्रेसवार्ता बुलाई। प्रेसवार्ता में यह स्पष्ट किया है कि कुलदीप पहले ही भाजयुमो अध्यक्ष पद से छह माह पहले हटाए जा चुके हैं। अब विवादित बयान के बाद पार्टी हाईकमान के निर्देश पर कुलदीप की संगठन से प्राथमिक सदस्यता खत्म कर दी है।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here