वृद्धा आश्रम में रहने को मजबूर गांधी जी के पोते कनुभाई गांधी से खुद पीएम मोदी ने की बात और केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा को मिलने के लिए भेजा

0
5618

दिल्ली- साउथ दिल्ली के गौतमपुरी में गुरू विश्राम वृद्ध आश्रम में रहने पर मजबूर महात्मा गांधी के पोते कनुभाई गांधी से आज प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने खुद ही फोन पर बातचीत की | बता दें प्रधानमंत्री मोदी को कनुभाई गांधी के बारे मीडिया से पता चला है जिसके बाद उन्होंने खुद ही इस मामले पर संज्ञान लेते हुए केंद्रीय संस्कृति मंत्री डाक्टर महेश शर्मा को उनसे मिलने के लिए भेजा और खुद उनसे फोन पर बातचीत भी कि उनका हाल चाल पुछा | पीएम्ओ ने खुद ही इस मामले में जानकारी देते हुए ट्विटर पर लिखा है कि पीएम मोदी ने खुद ही उन्हें फोन किया और कनुभाई गांधी से उनकी बातचीत गुजराती में हुई जो काफी अच्छी रही है |

प्रधानमंत्री ने अधिकारियों को दिए आदेश, आरामदायक तरीके से रहे तम्पत्ति –
डाक्टर महेश शर्मा के वहां पहुँचने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने खुद ही गांधी जी के पोते से बातचीत की उसके बाद उन्होंने अपने अधिकारियों को आदेश दिया है कि गांधी दंपत्ति के लिए यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि उन्हें किसी भी प्रकार की कोई तकलीफ नही होनी चाहिए |

गांधी जी के पोते ने खुद ही कहा कि वे मोदी के है बड़े प्रशंसक –
प्रधानमंत्री मोदी से बातचीत करने के बाद कनुभाई गांधी ने खुद ही कहा है कि वे ब्यक्तिगत तौर पर खुद प्रधानमंत्री मोदी के बहुत बड़े समर्थक है | उन्होंने यह भी कहा है कि आज भी उन्हें वो सबकुछ याद है जो कुछ भी मैंने उनके लिए किया था | उन्होंने अपनी बातचीत में इस बात का भी जिक्र किया है कि उन्होंने जब भी पीएम मोदी की मदद की थी तो सोनिया गांधी उनके खिलाफ थी | लेकिन उन्होंने कहा कि मुझे जो करना था मैंने वही किया |

अमेरिका में वैज्ञानिक थे कनुभाई गांधी –
बता दें कि कनुभाई गांधी उस वक्त 17 वर्ष के थे जब राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या कर दी गयी थी | उन्होंने 17 वर्ष की उम्र में ही हिन्दुस्तान छोड़ दिया था | कनुभाई खुद ही कहते है कि उन्‍होंने मेसाचुसेट्स इंस्‍टीट्यूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी में पढ़ाई की | इसके बाद वे नासा के लैंग्‍ले रिसर्च सेंटर में काम करते थे | उनकी पत्‍नी बायोकेमेस्‍ट्री में डॉक्‍टरेट हैं | उन्‍होंने भी अमेरिका में काम किया | अमेरिका से 2014 में लौटने के बाद कनुभाई आश्रमों और वृद्धाश्रमों में दिन गुजार रहे हैं | वे और उनकी पत्‍नी शिवलक्ष्‍मी साउथ दिल्‍ली के गौतमपुरी स्‍थ‍ित गुरु विश्राम वृद्धाश्रम में रह रहे हैं |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here