हमेशा जवान और सुन्दर बने रहना चाहते है या फिर बढ़ाना चाहते है सेक्स पॉवर तो करें इसका इस्तेमाल

0
1443

आज के समय हर किसी ब्यक्ति का जीवन अत्यधिक ब्यस्त होता जा रहा है | लोगों को अत्यधिक मानसिक तनाव का सामना करना पड़ता है जिसके कारण लोग असमय ही बूढ़े दिखने लगते है | आजकल ज्यादातर युवाओं में देखा गया है कि उन्हें असमय ही चस्मा लग गया है उनके आँखों की रौशनी कम पड़ चुकी है और वे अत्यंत थके हुए भी महशूस करते है | इसके विभिन्न कारण हो सकते है लेकिन आज हम आपको एक ऐसे चूर्ण के संबंध में जानकारी दे रहे है जिसका प्रयोग करने से आपका शरीर अत्यधिक चुस्त और दुरुस्त हो सकता है |

कैसे बनायें यह चूर्ण –
इस बेहतरीन चूर्ण को बनाने के लिए आपको मात्र 4 प्राकृतिक चीजों को एकत्र करना होगा | जो कि निम्नलिखित है –

सूखे आंवले का चूर्ण
काले तिल साफ़ करने के बाद बना इनका चूर्ण
भृंगराज का चूर्ण
गोखुरू का चूर्ण

विधि-
आपको सबसे इन सभी को मात्र 100-100 ग्राम की मात्रा में लेना है और इन सभी चूर्णों को एक साथ मिला लेना है उसके बाद इसमें 400 ग्राम बारीक पिसी हुई मिश्री मिलाना है | इसके बाद इस पूरे मिश्रण में 100 शुद्ध देशी गाय का घी और उसके बाद इसमें 200 ग्राम शहद मिला लेना है | बस अब आपके शरीर को चुस्त दुरुस्त रखने वाला चूर्ण तैयार हो गया | अब इस चूर्ण को आपको किसी मिटटी के चिकने बर्तन जिसमें पहले से घी लगा हो या फिर इसे कांच के किसी बर्तन में भर कर रखे दें | इस चूर्ण को प्रतिदिन आपको एक चम्मच यानी तक़रीबन 5 ग्राम सुबह-सुबह खाली पेट लेना है और चूर्ण को लेने के बाद आपको गाय का दूध मिल जाय तो अति उत्तम नहीं तो आप हल्का गुनगुना पानी भी पी सकते है |

चूर्ण के फायदे-
इस चूर्ण के अगर फायदों की बात करें तो यह चूर्ण आपके शरीर के लिए बेहद फायदेमंद है | यदि आपके बाल कम उम्र में ही झड गए है तो इस बात का दावा है कि आपके सर के बाल पुनः उग आयेंगे | बाल यदि असमय ही सफ़ेद हो गए है तो वे काले हो जायेंगे और आपके बाल वृद्धावस्था तक काले बने रहेंगे | आपके चेहरे पर चमक वापस आ जायेगी | आप बेहद शक्तिशाली और आपकी यौनशक्ति बहुत अधिक बढ़ जायेगी |

सावधानी –
इस चूर्ण को बानाते समय एक सावधानी बरतनी अत्यधिक आवश्यक है यह है कि घी और शहद यदि बराबर मात्रा में एक साथ ले लिया जाय तो वह किसी ज़हर से कम नहीं होता है | इसीलिए इन दोनों की मात्रा जो बताई गयी है यह अनुपात कभी नहीं भूलना है |

नोट- इस चूर्ण का जब भी सेवन करें आप यह ध्यान रखें कि आपको अंडा, मांस मछली सहित अन्य नशीले पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY