पत्थर जिस पर लिखा है राम नदी में तैरता हुआ मिला छत्तीसगढ़ के बच्चों को …

0
812

राम नाम आधार जिन्हें, वह जल में राह बनाते हैं !
जिन किरपा राम करें वह पत्थर भी तिर जाते हैं !!

राम जी का नाम लिखा हुआ तैरता पत्थर
राम जी का नाम लिखा हुआ तैरता पत्थर

यह लाइनें बिलकुल सच तब साबित हो गयी जब छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में हसदेव नदी के किनारे पर नहा रहे एक बच्चे को एक पत्थर मिला जिस पर राम लिखा था …

उस बच्चे ने उस पत्थर को उठाकर नदी में फेंका तो वह पत्थर डूबने के बजाय तैरने लगा, कुछ बच्चों ने मिलकर पत्थर को नदी से बाहर निकाला और नजदीक ही शिव मंदिर के पास ले आये तब से वह पत्थर लोगों के लिए आस्था का और दर्शन का केंद्र बना हुआ हैं ..

लोग इसे नवरात्र में राम नाम की महिमा मानते हुए पूजा अर्चना में लग गए.

पत्थर के तैरने पर वैज्ञानिकों का कहना है कि धरती पर कई तरह के तलहटी चट्टानें पाई जाती हैं. हजारों वर्षों के अंतराल में बनने वाले तलहटी चट्टानी पत्थरों पर ताप व दाब के साथ विभिन्न् तत्वों के मिश्रण का प्रभाव होता है. कई बार चट्टानी पत्थर के निर्माण में लकड़ी, मिट्टी व रेत का संयोजन होता है. जिस तत्व का घनत्व अधिक होता है, उसका उस चट्टानी पत्थर पर प्रभाव पड़ता है. इस तरह के पत्थरों में लकड़ी के तत्वों का अधिक घनत्व होता है. इस वजह से पत्थर पानी में डूबने की बजाय तैरने लगते हैं.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

16 + 8 =