गाँधी जी के शब्दों में “गीता” का महत्त्व

0
261

मैं यह अनुभव करता हूं कि गीता हमें यह सिखाती है कि हम जिसका पालन अपने दैनिक जीवन में नहीं करते हैं, उसे धर्म नहीं कहा जा सकता है।

mahatma gandhi 15

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

14 − 9 =