भारतीय मूल के छात्रों की एक और बड़ी सफतलता…..

0
168

चार अलग देशों में रह रहे भारतीय छात्रों की टीम ने विश्व के पहले ऐसे एयरक्राफ्ट का निर्माण किया जो अपने पंखों के कम्पन से अपने लिए ऊर्जा उत्पन्न करेगा।

लीक से हटकर इस खोज ने उन्हें एयरबस के ग्लोबल प्रतियोगिता के निर्णायक दौर में पहुंचा दिया है.

download (5)

टीम में मौजूद सदस्य वर्तमान समय में बंगलौर, नीदरलैंड, अमेरिका और लंदन में पढाई कर रहे हैं, एयरबस के ” फ्लाई योर आईडिया ” के विजेता की घोषणा 27 मई को हैम्बर्ग ( जर्मनी ) में होगी। विजेता टीम को 30000 यूरो का जैकपोट मिलेगा।

 

media

 

टीम के लीडर सतीश कुमार अनुसूया ने बताया की ” प्रत्येक हवाई जहाज में उड़ान के दौरान प्राकृतिक कम्पन के कारण एक ऊर्जा उन्पन्न होती जोकि बर्बाद हो जाती है, हमारा इरादा उस ऊर्जा को प्रयोग में लाने का है जो कि विमान के आंतरिक कार्यों प्रकाश और बोर्ड मनोरंजन के लिए पर्याप्त होगी

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

3 × two =