बच्चों को नशा कराया तो लगेगा 1 लाख जुर्माना

0
73


कानपुर : कानपुर नगर में आए दिन बच्चों को नशे में लिफ्त करने की घटनाएं प्रकाश में आती रहती हैं जबकि महाशिवरात्रि के पर्व पर विभिन्न मंदिरों प्रतिष्ठानों  व संस्थानों पर भांग मिलाकर भगवान शिव के प्रसाद के नाम पर ठंडाई पिलाई जाती है जिससे आयोजकों व वितरकों द्वारा बच्चों को भी सम्मिलित कर बच्चों को नशे का आदी बनाने का कार्य किया जाता है जिस क्रम चाइल्ड लाइन कानपुर द्वारा शिवरात्रि के पर्व पर आयोजकों द्वारा बच्चों को नशे में लिफ्त न करने एवं नशा कराने वाले के खिलाफ किशोर न्याय बालकों की देखरेख एवं संरक्षण अधिनियम 2015 की धारा 77 के अंतर्गत कार्यवाही की जाएगी |

चाइल्ड लाइन कानपुर के निर्देशक कमलकांत तिवारी ने बताया कि किशोर न्याय बालकों की देखरेख एवं संरक्षक संरक्षण अधिनियम 2015 की धारा 77 के अनुसार यदि कोई व्यक्ति बालक को मादक पदार्थ स्वापक औषधि या मना प्रभावी प्रदार्थ देता है या दिलाता है तो उसको 7 वर्ष तक का कठोर कारावास और एक लाख रुपए जुर्माना का प्रविधान है चाइल्ड लाइन कानपुर के संभवत संमव नव मन्नू न सम दया दया समन्दयक विनय कुमार ओझा ने जनसामान्य से अपील की है यदि मंदिर प्रतिष्ठान संस्थान का कोई भी व्यक्ति या कर्मचारी 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चे को मादक प्रदार्थ देता है तो उसके खिलाफ कार्य कार्यवाही हेतु चाइल्ड लाइन के निशुल्क नंबर 1098 पर सूचना दें जिससे नशे में  लिफ्त करने वाले के खिलाफ कार्रवाई की जा सके और बच्चों को नशे से बचाया जा सके |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY