मृत शिक्षक के परिजनों को मिले 10 लाख मुआवजा : पारा शिक्षक संघ

0
130

धनबाद (ब्यूरो) एनपीएस रजवार टोला, देवली के पारा शिक्षक धारुन गोप की हृदय गति रुक जाने के कारण हुई मौत के बाद झारखंड प्रदेश सामुदायिक पारा शिक्षक संघ धनबाद ने 10 लाख रुपए मुआवजा देने की मांग की है। अध्यक्ष राजकिशोर महतो ने कहा कि आश्रितों को अविलंब नियोजन व मुआवजा दिया जाए। विभाग की लापरवाही के कारण पारा शिक्षक गोप की मौत हुई है। अगर समय पर मानदेय दिया गया होता तो संभव है उससे कुछ मदद होती। पारा शिक्षकों ने शनिवार को गोल्फ ग्राउंड में बैठक कर शिक्षा विभाग का विरोध किया। पारा शिक्षकों ने स्वर्गीय गोप के लिए शोक सभा कर शोक व्यक्त किया।

मौके पर चरक महतो, निर्मल महतो, कृष्णा रजवार, अशोक महतो, गीता देवी, भारती कुमारी समेत अन्य मौजूद थे। 29 सौ पारा शिक्षकों को मानेदय मिलने में लगेगा दो दिन जिला झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद कार्यालय ने मुख्यालय से राशि आवंटित होने के बाद 15 जून को जिले के 29 सौ पारा शिक्षकों के एकाउंट में राशि सीधे भेजी है। जानकारों का कहना है कि गुरुवार को बैंक को स्टेटमेंट भेजी गई है। पारा शिक्षकों के एकाउंट में सीधे मानदेय जाने के लिए प्रक्रिया में दो से तीन दिन का समय लग सकता है। ऐसे में 18 जून तक मानदेय पहुंचने की बात कही जा रही है। मामले में डीएसई विनीत कुमार ने कहा कि पारा शिक्षक की मौत का दुख है। घटना की सूचना मुझे मिली है। मुख्यालय से राशि मिलते ही सभी के एकाउंट में डीबीटीएल कर दिया गया है। जल्द ही एकाउंट में राशि चली जाएगी।

रिपोर्ट – गणेश कुमार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here