11 एनडीआरएफ ने की हरउआँ एलपीजी बॉटलिंग प्लांट के साथ मॉक ड्रिल

0
48

वाराणसी(ब्यूरो)- ११ एनडीआरएफ ने हरउआँ , वाराणसी स्थित एलपीजी प्लांट के साथ बटालियन स्तर की एक जॉइंट मॉक ड्रिल का आयोजन किया गया । इस मॉक ड्रिल में एलपीजी प्लांट व फायर ब्रिगेड के कर्मचारियों को एनडीआरएफ ने किसी भी प्रकार की एलपीजी दुर्घटना होने पर किस प्रकार से राहत व बचाव कार्य करना चाहिए इस बारे में जानकारी दी । इस मॉक ड्रिल में इंस्पेक्टर रोहित भारद्वाज सहित 24 रेस्कुएर्स ने इस मॉक ड्रिल में भाग लिया।

इस अभ्यास का उद्देश्य किसी भी प्रकार की एलपीजी दुर्घटना के दौरान राहत व बचाव कार्य में काम करने वाली एजेंसियां किस प्रकार से आपस में समन्वय स्थापित करके अधिक से अधिक मानव जीवन व संपत्ति के नुकसान को काम कर सकें इसका अभ्यास किया गया । मॉक ड्रिल के दौरान एक नाट्य दृश्य में एलपीजी गैस का रिसाव दिखाया गया, जिसमें एनडीआरएफ, फायर ब्रिगेड और प्लांट के कर्मचारियों ने फसे हुए लोगों को बाहर निकाला । एनडीआरएफ की स्पेशल तकनीक वाली टीम ने केमिकल सूट व ऑक्सीज़न सिलिंडर मास्क पहनकर सीलिंग मटेरियल की सहायता से लीकेज को बंद किया किया। इसके साथ ही घायल व्यक्तियों को बहरा निकल कर उपस्थित एनडीआरएफ मेडिकल टीम ने आवश्यक प्राथमिक उपचार देते हुए नजदीकी हॉस्पिटल में भर्ती कराया ।

इस अवसर पर श्री विमल गुप्ता असिस्टेंट कमांडेंट ११ एनडीआरएफ ने कहा कि औद्योगिक कंपनियों के साथ इस प्रकार कि मॉक ड्रिल प्लांट के कर्मचारियों और आम लोगों में एक जागरूकता के साथ-साथ आपसी समन्वय व बहुमूल्य मानव जीवन को बचने में बहुत सहायक होती है । इससे राहत बचाव करने वाली प्रत्येक एजेंसी को अभ्यास हो जाता है और इक्विपमेंट को उसे करने का भी अभ्यास हो जाता है ।

उपरोक्त मॉक ड्रिल में एनडीआरएफ, फायर ब्रिगेड, पुलिस, मेडिकल और एलपीजी प्लांट के लगभग 72 कर्मचारियों ने भाग लिया।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY