विश्वकृमि दिवस पर पूर्व माध्यमिक विद्यालय देना के 119 बच्चों ने खाई दवा

सीतापुर (ब्यूरो) – विश्व कृमि दिवस के असवर पर आज, विकास क्षेत्र परसेण्डी स्थित पूर्व माध्यमिक विद्यालय के 119 छात्र-छात्राओं को पेट के कीड़े मारने की दवा अल्बेण्डाजोल खिलाई गई।इस अवसर पर विद्यालय प्रधानाध्यापक खुश्तर रहमान खाँ ने उपस्थित छात्र-छात्रआओं को जानकारी देते हुए बताया कि यदि एक स्वस्थ्य मनुष्य के पेट में कीड़े पैदा हो जाते हैं, तो मनुष्य का जीवन बीमारियों से घिरा रहने लगता है। जिससे उसे अनेकों प्रकार की कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है। उन्होंने बच्चों को बताया कि कीडे़ हमारे शरीर में समुचित साफ-सफाई न होने पर प्रवेश कर जाते हैं। इसलिये आवश्यक है कि खाना खाने से पूर्व आपने हाथों को साबुन से अच्छी तरह से धोया जाय।

नाखून साफ रखे जायें, बासी भोजन न ग्रहण किया जाय, कटे-फटे, सडे़-गले, फलों का सेवन कदापि न किया जाय। अगर हम अपने निजी जीवन में प्रतिदिन इन बातों का ध्यान रक्खेंगें तो हमारा स्वास्थ्य सदैव ठीक रहेगा और हम बीमारियों से बचे रहेंगे।क्षेत्रीय स्वास्थ्य कर्मी नौशाद अन्सारी ने बच्चों को दवा खिलाने से पूर्व इसके महत्व व आवश्यकता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि शासन-प्रशासन सदैव अपने नागरिकों के स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहता है। हमारे वातावरण में मौजूद अनेक तत्व ऐसे होते हैं जिनके सम्पर्क में आने से हमारा शरीर संक्रमित हो जाता है, और हम बीमार रहने लगते हैं। बीमारियों की मुख्य वजह पेट का संक्रमण ही है।

इसलिये आवश्यक है कि हमारा पेट ठीक रहे, और यदि कोई कीड़ा हमारे पेट में पहुँचकर हमें नुकसान पहुँचा रहा है तो उसे शरीर से बाहर निकाल दिया जाय। इस प्रकार हम स्वस्थ्य बने रहेंगे। इसी उद्देश्य की पूर्ति हेतु आवश्यक है कि प्रत्येक नागरिक को हर छः माह पर एक बार पेट के कीडे़ मारने की दवा अवश्य लेनी चाहिये। आज विश्व कृमि दिवस के अवसर पर हम सभी को यह दवा लेनी है ताकि हम और हमारा समाज निरोगी व सुखमय जीवन का आनन्द ले सके।इस अवसर पर विद्यालय में उपस्थित कुल 68 छात्र और 51 छात्राओं को क्षेत्रीय स्वास्थ्य कर्मी नौशाद अन्सारी की उपस्थिति एवं देख-रेख में अल्बेण्डाजॉल की गोली शिक्षक परवेज अख्तर अय्यूबी, अनुदेशक कामिनी राजवंशी, नीलम एवं प्रीतीपाल के सहयोग से खिलाई गई।

इसी प्रकार विकास क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय इमलिया 140 बच्चों का प्रधानाध्यापक गया प्रसाद एवं इंगलिश मीडियम विद्यालय गुराई प्रधानाध्यापक अनुपम द्वारा छात्र-छात्रओं को भी अल्बेण्डाजोल की खुराक देते हुए इसका महत्व पर प्रकाश डाला गया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here