12 वर्षीय मासूम को वीराने में छोड़ फरार हो गया चचेरा भाई, लोगों ने दिखाई इंसानियत

0
133

बीघापुर/उन्नाव(ब्यूरो)– यहाँ एक चचेरे भाई ने अपनी 12 साल की मासूम बहन को नानी के यहां घुमाने के बहाने घर से बपनी बाईक में बैठाकर आडाखेड़ा शारदा नहर पुल पर उतार दिया तथा थोड़ी देर में आने की बात कह भाग गया। मासूम लड़की को अकेले नहर पर भटकते हुए देख ग्रामीणों ने 100 नंबर पर फ़ोन कर पुलिस को सूचना दी, ग्रामीणो की सूचना पर 100 न पुलिस ने लड़की को बीघापुर नगर पंचायत निवासी कमलेश पाल के सुपुर्द कर दिया।

शालिनी देवी उम्र 12 वर्ष को आड़ाखेड़ा के शारदा नहर पुल पर सुबह 8 बजे रोता देखा आने जानेे वालो ने उससे पूछतांछ की तो लड़की ने बताया कि उसके माता पिता नहीं है, उसके चाचा का नाम राकेश पासवान तथा चचेरे भाई का नाम सोनू है। लड़की अपने गांव का नाम नहीं बता सकी। चाचा घर से बाहर कभी नहीं जाने देते स्कूल भी कभी नहीं भेजा और लड़की ने बताया कि चाची मुझसे घर का पूरा काम कराती थी व मारती थी।

सुबह सोनू नानी के यहाँ चलने की बात कहकर मोटर साईकिल में बैठाकर नहर पुल पर उतार दिया तथा अभी आता हू कहकर चले गये। 3 बजे तक पुल पर बैठी रही पुल पर अकेली बैठी रोती रही उसको रोता देख आजादनगर निवासी मुरारी पासवान लड़की को लाकर पुलिस को सूचना दी। पुलिस व नगर पंचायत सदस्य राज पटेल ने बीघापुर निवासी कमलेश पुत्र चन्द्रिका पाल को लड़की सुपुर्द कर दिया है। लड़की को देखने के लिए ग्रमीणो की भारी भीड़ रही तथा उसे पढ़ने लिखाने तथा पालन पोषण के लिए कई लोग तैयार थे।
रिपोर्ट- मनोज सिंह
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY