9 जून को होगी यूपी बोर्ड इंटर और हाईस्कूल के परिणामों की घोषणा

0
83

लखनऊ ब्यूरो : उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद इस बार हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के परीक्षा परिणामों की घोषणा 9 जून को करने जा रहा है, जैसे-जैसे परिणाम की तिथि नजदीक आ रही है वैसे-वैसे छात्रों और उनके अभिभावकों की टेंशन भी बढ़ती जा रही है. डर लाजमी है. क्योंकि बीजेपी सरकार में यूपी बोर्ड के छात्रों का प्रदर्शन बेहद ही खराब रहा है. इस बार भी प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की नेतृत्व वाली बीजेपी की सरकार है. शिक्षा बोर्ड के अधिकारीयों का कहना है कि इस बार कापियों के मूल्यांकन में सख्ती बरती गई है. लिहाजा इसका असर UP board results 2017 में देखने को मिल सकता है.

पूर्वर्ती दरअसल पूर्ववर्ती अखिलेश सरकार के कार्यकाल के दौरान यूपी बोर्ड का रिजल्ट बेहतरीन रहा. छात्रों के उत्तीर्ण होने के प्रतिशत में हर साल करीब 10 फ़ीसदी का इजाफा हुआ. जबकि अगर हम कल्याण सिंह सरकार की बात करें तो उस दौरान पासिंग परसेंट काफी कम था. उसके बाद मुलयम सिंह स्वकेंद्र परीक्षा प्रणाली की मंजूरी दी लेकिन कोई खास सफलता हाथ नहीं लगी

2007 में मायावती सरकार के कार्यकाल में यूपी बोर्ड का परफॉरमेंस सुधरा. मायावती सरकार के आखिरी साल में उत्तीर्ण होने वाले छात्रों (10वीं) का प्रतिशत 70.82 रहा. जबकि इंटर में 80.14 छात्र पास हुए. लेकिन इसके बाद 2012 में अखिलेश सरकार के आते ही लगातार छात्रों का परफॉरमेंस बढ़ता ही गया.

पिछले पांच साल में यूपी बोर्ड रिजल्ट का ये रहा प्रतिशत 2012:

10वीं में 83.75 छात्र उत्तीर्ण हुए,

जबकि 12वीं में 89.40 फीसदी 2013:

10वीं में 86.63 छात्र उत्तीर्ण हुए,

जबकि 12वीं में 92.68 फीसदी 2014:

10वीं में 86.71 छात्र उत्तीर्ण हुए,

जबकि 12वीं में 92.21 फीसदी 2015:
10वीं में 83.74 छात्र उत्तीर्ण हुए,

जबकि 12वीं में 88.83 फीसदी 2016:

10वीं में 87.66 छात्र उत्तीर्ण हुए,

जबकि 12वीं में 87.99 फीसदी
रिपोर्ट – मिंटू शर्मा 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY