धूमधाम से मनाया गया पण्डित श्रीराम बाजपेयी का 137वां जन्मोत्सव

0
91
बदायूँ(ब्यूरो)- अखिल विश्व गायत्री परिवार के तत्वावधान में अम्बियापुर क्षेत्र के गांव दबिहारी में राष्ट्र को रामप्रसाद बिस्मिल जैसे क्रांतिकारी तैयार वाले भारतीय स्काउटिंग के जनक पण्डित श्रीराम बाजपेयी का 137वां जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया गया। शिक्षक-शिक्षिकाओं ने पं. श्रीराम बाजपेयी के चित्र पर पुष्प अर्पित किए। बच्चों ने देशभक्ति गीत ‘‘हम भारत के सच्चे सेवक, दुनियां नई बनायेंगे‘‘ और ‘‘ देवभूमि धरती का गौरव, अपना हिंदुस्तान‘‘ की शानदार प्रस्तुति दी।
मुख्य अतिथि निर्मल गंगा जन अभियान के जिला संयोजक सुखपाल शर्मा ने कहा कि युवाओं में अथाह ताकत और अद्भुत क्षमताएं होती हैं। इनकी शक्ति जिधर लग जाए उधर हर कार्य संभव हो जाता है। पं. श्रीराम बाजपेयी ने भारत में स्काउटिंग की ऐसी ज्योति जलाई, आज का प्रत्येक बालक नन्हें सैनिक के रूप में तैयार होकर देश सेवा के लिए तत्पर है।
गायत्री परिवार के संजीव कुमार शर्मा ने कहा कि भारतीय स्काउटिंग के जनक पंडित श्रीराम बाजपेयी सच्चे देश भक्त थे। ब्रिटिश शासनकाल में भारतीय बच्चों को स्काउटिंग की शिक्षा प्राप्त करने का कोई अधिकार नहीं था, ऐसे संघर्ष और चुनौतियों में श्रीराम बाजपेयी ने 1913 में बाल सेवक दल खोलकर हिन्दुस्तान में स्काउटिंग का श्री गणेश किया। देश के लिए समर्पित राम प्रसाद बिस्मिल जैसे क्रांतिकारी तैयार किए। 1918 में सौ स्काउट के साथ बाजपेयी जी ने इलाहाबाद
कुम्भ में निःस्वार्थ सेवा की। इनका राष्ट्र के लिए अनुकरणीय समर्पण है।
प्राथमिक विद्यालय निधानपुरा के शिक्षक परमवीर सिंह दीवला ने कहा कि भारतीय स्काउटिंग के जनक पंडित श्रीराम बाजपेयी ने स्काउटिंग का भारतीयकरण किया। बालक-बालिकाओं को चरित्रवान बनाया और ब्रिटिश शासन को जड़मूल से उखाड़ फेंकने का काम किया।
शिक्षक रनवीर सिंह ने कहा कि श्री बाजपेयी ने बच्चों को स्वावलम्बन से जोड़कर आत्मनिर्भर बनाया और मरते दम तक संसार की भलाई के लिए कभी विश्राम नहीं किया। इस मौके पर शिक्षक जयपाल, प्रवीण कुमार, रामनिवास शर्मा, नरेंद्र कुमार, भवेश शर्मा, पवन कुमार आदि मौजूद रहे। संचालन मृत्युंजय शर्मा ने किया।
रिपोर्ट- सोनू यादव 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here