तहसील दिवस में आये 167 प्रार्थना पत्र, जिसमें एक का हुआ निस्तारण

0
63

मिर्ज़ापुर(ब्यूरो)- चुनार तहसील में मंगलवार को आयोजित तहसील दिवस में मण्डलायुक्त मुरली मनोहर लाल व डी0 आई0 जी रतन कुमार श्रीवास्तव ने तहसील दिवस में आये फरियादियो की समस्याओं को सुना व् फरियादियो के शिकायती प्रार्थना पत्रो को लेकर समय से निस्तारण के लिए सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को सौपा गया ।

तहसील दिवस में डुलहाडौल निवासिनी-ने शिकायती प्रार्थना पत्र दिया कि गांव के प्रधान बाबू लाल जो प्रार्थीनी से रंजिश रखते हैं, इसी कारण उसे सरकारी आवास एवम शौचालय का लाभ नही दिया जा रहा है जबकि प्रार्थीनी दिव्यांग है| अशरफाबाद निवासी सोहनलाल ने शिकायती प्रार्थना पत्र दिया कि पट्टे की जमीन पर उसे कब्जा नही मिल रहा है| बाराडीह निवासी विक्रमा ने शिकायती प्रार्थना पत्र दिया कि गांव की बादामा देवी व अन्य लोग उसके पट्टे की जमीन पर जबरिया कब्जा कर रहे हैं ।

बहरामगंज निवासी सुभाष ने शिकायती प्रार्थना पत्र दिया कि उसे काशीराम शहरी आवास योजना के तहत आवास मिला था जिसे शिकायतकर्ता ने स्वयं प्रार्थना पत्र देकर निरस्त कर दिया है लेकिन उसके नाम से बिजली का बिल अब भी आ रहा है| तहसील दिवस में उपस्थित अधिकारियों कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए मण्डलायुक्त ने कहा कि काफी छोटे छोटे मामलो के शिकायत आये हैं, यह अच्छी बात नहीं है| ऐसे मामलों में राजस्व व पुलिस को कार्यवाही कर शिकायतकर्ताओं को संतुष्ट कर देना चाहिए| वर्तमान समय में तहसील दिवस को गम्भीरता से लिया जा रहा है। हर माह शासन के सर्वोच्च अधिकारी प्रार्थना पत्रो की समीक्षा कर रहे हैं और फरियादियो से सीधे सम्पर्क कर किये गये कार्यवाही से रूबरू हो रहे हैं| समय एवम गुणवत्तायुक्त निस्तारण किया जाय । जिससे शिकायत कर्ता से यदि शासन फीडबैक ले तो शिकायत कर्ता निस्तारण को लेकर किसी तरह का नकारात्मक गुणगान न करें उन्होंने कहा कि जिस मामले में अधिक विवाद हो|

ऐसे मामलों में एसडीएम टीम बनाकर राजस्व व पुलिस के साथ कार्यवाही अम्ल में लाये तहसील दिवस मे बिना किसी सूचना के अनुपस्थित रहने पर 8 अधिकारियो का एक दिन का वेतन काटने का निर्देश दिया। तहसील दिवस में कुल 167 प्रार्थना पत्र पडे, जिसमें मौके पर मात्र एक का निस्तारण हुआ| तहसील दिवस में राजस्व व पुलिस के तमाम अधिकारी मौजूद रहे।

रिपोर्ट- साजिद अंसारी/ज़फर अहमद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here