गंगा के किनारे 18 गांव ओ.डी.एफ. घोषित किये गये : जिलाधिकारी

0
111

प्रतापगढ़ ब्यूरो : जिलाधिकारी श्री शरद कुमार सिंह की अध्यक्षता में शिविर कार्यालय स्थित सभागार में मासिक प्रगति की समीक्षा बैठक की गयी। बैठक में जिलाधिकारी ने सर्वप्रथम विद्यालयों में अध्यापकों की उपस्थिति के विषय में ए0बी0एस0ए0 से जानकारी ली गयी। उपलब्ध जानकारी से जिलाधिकारी असन्तुष्ट थे उन्होने निर्देश दिया कि विद्यालयों में मिले अनपुस्थित अध्यापकों के खिलाफ क्या कार्यवाही की गयी तथा निरीक्षण तहसीलवार/ब्लाक स्तर पर करायी जाये। मिड-डे-मील तथा छात्रों की उपस्थिति निरीक्षण तालिका में दिखाया जाये।

इसी तरह मुख्य चिकित्साधिकारी को भी निर्देश दिया कि डाक्टरों की उपस्थिति, जननी सुरक्षा योजना, आशा बहुओं का मानदेय, 108 तथा 102 एक्बूलेन्स की रिपोर्ट देने को तथा निर्माणाधीन योजनाओं की बैठक के सम्बन्ध में अलग से बैठक बुलाने के लिये कहा तथा उन परियोजनाओं की सूची जो 90 प्रतिशत तक पूर्ण हो चुकी है और हैण्ड ओवर होने वाली है उनकी सूची उपलब्ध करायी जाये। अधिशासी अधिकारी नगर पालिका को जिलाधिकारी निर्देश दिया कि बरसात शुरू होने से पहले बड़े नालांं की सफाई और वार्डो की नियमित सफाई करायी जाये। जल निगम के अधिशासी अभियन्ता से रिबोर के सम्बन्ध में जानकारी ली गयी तो उन्होनें बताया कि समस्त रिबोर करा दिये गये है। अधिशासी अभियन्ता विद्युत विभाग पूर्वी से बिजली के सम्बन्ध में जानकारी ली गयी तो उन्होनें बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में 18 घंटे और शहरी क्षेत्रों में 24 घण्टे बिजली आपूर्ति की जा रही है। राजीव गांधी विद्युत योजना के अन्तर्गत कराये गये कार्यो के बारे में कहा कि पहले यह कार्य गोदरेज कम्पनी द्वारा कराया जा रहा था और अब इसे टाटा कम्पनी को दे दिया गया है। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि खराब ट्रांसफार्मरों को 48 घण्टे में बदलना सुनिश्चित किया जाये जिसकी अधिकतर शिकायतें आती है।

लोक निर्माण विभाग की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियन्ता लोक निर्माण विभाग प्रान्तीय खण्ड से गड्ढा मुक्त सड़क होने के सम्बन्ध में जब उनसे जानकारी ली गयी तो उन्होने बताया कि टेण्डर हो चुका है जल्द ही कार्य चालू करा दिया जायेगा। डी.पी.आर.ओ से कुण्डा तथा कालाकांकर ब्लाक में खुले में शौच के सम्बन्ध में जानकारी की तो उन्होने बताया कि कुण्डा एवं कालाकांकर के गंगा जी किनारे के 18 गांव ओ.डी.एफ. घोषित किये जा चुके है जिसके लिये जिलाधिकारी ने कहा कि टीमें गठित कर खुले में शौच करने से लोगो का समझा कर रोका जाये, तभी ओ.डी.एफ. गांव घोषित होगा अन्यथा नही। मनरेगा अधिकारी से जांब कार्ड के सम्बन्ध में जानकारी ली तो उन्होनें बताया कि आधार कार्ड से लिंक होने पर 91 प्रतिशत जांब कार्ड जारी किये जा चुके है। अधिशासी अभियन्ता सिंचाई विभाग से नहरों में सिल्ट सफाई और पानी के सम्बन्ध में जानकारी ली तो उन्होने बताया कि सिल्ट सफाई का कार्य पूर्ण हो चुका है और कल दिनांक 10 मई तक नहरो में पानी आ जायेगा। जिसके लिये जिलाधिकारी ने कहा कि सर्वप्रथम तालाबों और गड्ढों को भरवाया जाये जिससे पशु-पक्षी को जल उपलब्ध हो सके। जिलाधिकारी ने अन्त में कहा कि विकास सम्बन्धी फाइलें मुख्य विकास अधिकारी के माध्यम से भेजी जायेगी। प्राथमिक विद्यालयों की अध्यापकों की उपस्थिति आफिस में समय से बैठना और आई.जी.आर.एस. सम्बन्धित सुनवाई एक हफ्ते में पूर्ण की जाये।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी श्री राजकमल यादव, अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) श्री सोमदत्त मौर्य, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 यू0के0 पाण्डेय, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी श्री जितेन्द्र कुमार सिंह, जिला पंचायत राज अधिकारी श्री कुंवर सिंह यादव सहित जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

रिपोर्ट – अवनीश कुमार मिश्र

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here