ये हैं 19 साल की महिला थानेदार, जाने क्या है इनकी कहानी…

0
75

उत्तराखंड (रा.ब्यूरो)- क्या आपने कभी  19 साल की कोई महिला थानेदार देखी है?  अगर नहीं तो हम आपको दिखाते हैं . उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में 19 साल की युवती ने कोतवाल का चार्ज संभाला| इस दौरान उन्होंने चाइल्ड लेबर और शोषण के खिलाफ पूरे इलाके में जन जागरुकता अभियान चलाया| विश्व बालिका दिवस के मौके पर 19 साल की पूनम रावत ने सुबह 11 बजे  बजे उत्तरकाशी थाने में पहुंचकर थानाध्यक्ष महादेव उनियाल से 4 घंटे के लिए चार्ज लिया| डीजीपी की अनुमति के बाद पाॅलिटेक्नीक की छात्रा को कोतवाल बनाया गया|

पूरे शहर में मारी गश्त-
बुधवार को थाने के कैंपस में आयोजित कार्यक्रम के दौरान पूनम ने बाल मजदूरी और शोषण के खिलाफ एक नाटिका में कोतवाली प्रभारी की भूमिका निभाई| पूनम ने एक थानाध्यक्ष की जिम्मेदारी को बखूबी निभाया, इसके बाद पूनम थानाध्यक्ष की गाड़ी में पूरे उत्तरकाशी शहर में गश्त पर निकली| पूनम के साथ कुछ सिपाही भी गये, जहां उन्होंन सरकारी स्कूल के बाहर खुली दुकानों में बेचे जा रहे तंबाकू और गुटके आदि को लेकर दुुकानदारों को चेतावनी दी कि दुकान के समाने 18 वर्ष से कम बच्चों को गुटका व तंबाकू न बेचे| वहां उन्होंने दुुकान के सामने 18 वर्ष से कम के बच्चों को शराब न देने को लेकर चेतावनी बोर्ड लगाने के निर्देश दिये, साथ ही पास के होटलों का भी जायजा लिया|

व्यापारियों को दी चेतवानी
उन्होंने व्यापारियों को स्पष्ट कहा कि अगर दुकान में शराब परोसते हुए पकड़े गये या शराब बरामद होती है तो कार्रवाई की जायेगी, इसके बाद पूनम उत्तरकाशी कोतवाली लौटी, जहां उन्होंने थानाध्यक्ष महादेव उनियाल को कार्यभार सौंपा| श्री भुवनेश्वरी महिला आश्रम और प्लान इंडिया के सहयोग युवती को एक दिन के लिए कोतवाली का चार्ज दिया गया| इसके लिए पुलिस मुख्यालय से विशेष अनुमति ली गई थी| इसका उद्देश्य दूरस्थ क्षेत्र की बालिकाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरुक करना है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here