200 साल से तपस्या में है लीन, जिंदा ही लाश बन गया यह भिक्षु

0
28416

मंगोलिया – मंगोलिया में एक ऐसी ममी मिली हुई है जो तक़रीबन 200 सालों से सुरक्षित रखी हुई है I सबसे बड़ी खासबात यह है कि इस ममी को देखकर जरा भी ऐसा नहीं लगता है कि यह कोई ममी है I इसे देखकर हर किसी को ऐसा लगता है कि जैसे यह बौध भिक्षु किसी भी समय अपनी ध्यान मुद्रा से बाहर आयेंगे और कुछ बोलने लगेंगे I इस ममी को देखकर बिलकुल ऐसा लगता है कि जैसे कोई साधू है और बहुत ही गहरी ध्यान की मुद्रा में चले गए है और किसी भी समय खड़े हो सकते है I हालाँकि अभी तक ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है लेकिन मंगोलिया के लोगों का ऐसा कहना है कि जिसे लोग ममी समझ रहे है हो सकता है कि वह अभी भी जीवित हो और ध्यान की मुद्रा में हो I

इसे भी पढ़ें – 1990 में अमेरिका में निकला एक श्रीयंत्र और अभीतक नहीं सुलझा उसका रहस्य …

जी हाँ हम आपको बता दें कि यह ममी बीते वर्ष 15 जनवरी को को खोजी गयी थी लेकिन इसके बारे में जानकारी मंगोलिया की सरकार ने अब सार्वजानिक की है I अभी तक इस जानकारी को सार्वजानिक न करने के पीछे सबसे बड़ा कारण यह था कि मंगोलिया के वैज्ञानिक इस ममी के ऊपर शोध कर रहे थे I आपको बता दें कि यह ममी मंगोलिया के सोंगिनोखैरखान प्रांत में मिली है। ये ममी पूरी तरह से ध्यान की मुद्रा में है। जो किसी बौद्ध भिक्षु की है। इस ममी के बारे में अंदाजा लगाया जा रहा है कि ये बौद्ध लामा दाशी-दोर्झो इतिगिलोव हो सकते हैं। दाशी तिब्बतन मूल के बौद्ध लामा थे। उनका बौद्ध धर्मावलंबियों पर खास प्रभाव अब भी है। बौद्ध भिक्षु के इस शव को ऊंट के चमड़े से सुरक्षित किया गया है। फिलहाल इसे राजधानी उलन बटोर के राष्ट्रीय केंद्र में रखा गया है, जहां फॉरेंसिंक एक्सपर्ट जांच में जुटे हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here