2000सी.सी. से ऊपर की डीजल एसयूवी गाड़ियों पर सुप्रीमकोर्ट ने लगाया बैन

0
335

दिल्ली- दिल्ली सहित समूचे एनसीआर में लगातार बढ़ते हुए प्रदूषण को देखते हुए सुप्रीमकोर्ट ने सख्त आदेश देते हुए कहा है कि दिल्ली सहित एनसीआर में अब किसी भी 2000 सी.सी. से ऊपर के इंजन वाली डीजल एसयूवी गाडी का पंजीकरण नहीं किया जाना चाहिए I

इतना ही नहीं सुप्रीमकोर्ट ने डीजल एसयूवी गाड़ियों के पंजीकरण पर रोक लगाने के साथ ही साथ ग्रीनटैक्स को भी बढाकर दो गुना कर दिया है I सुप्रीमकोर्ट ने अपने आदेश में यह भी जोड़ दिया है कि दिल्ली सहित पूरे एनसीआर में में 10 साल से पुरानी कोई भी गाडी नहीं चलनी चाहिए I

सुप्रीमकोर्ट ने कहा है कि फिलहाल उसका यह आदेश कि 2000 सीसी की गाडियों के पंजीकरण पर बैन रहेगा आगामी मार्च 2016 तक लागू रहेगा I उसके बाद इस मामले पर पुनः समीक्षा की जायेगी I इसके साथ ही साथ माननीय सुप्रीमकोर्ट ने यह भी आदेश दिया है कि अब दिल्ली के भीतर जो ट्रक आते थे उनके ऊपर जो टैक्स लगेगा वह भी दोगुना अधिक होगा I आपको बता दें कि दिल्ली के भीतर इंट्री करने के लिए पहले ट्रकों को 700 और 1300 रूपये का टैक्स देना पड़ता था अब इसे बढाकर सुप्रीमकोर्ट ने 1400 और 2600 रूपये कर दिया है I

कैब कंपनियों पर कसा सिकंजा –

माननीय सुप्रीमकोर्ट ने अपने आदेश में कैब कंपनियों पर भी शिकंजा कसते हुए आदेश दिया है कि दिल्ली सहित एनसीआर में अब कोई भी कैब डीजल या फिर पेट्रोल से नहीं चलनी चाहिए I कैब कंपनियों को दिए अपने आदेश में सुप्रीमकोर्ट ने कहा है कि अब केवल और केवल CNG में कैब चलेंगी I

गौरतलब है कि दिल्ली में प्रदूषण अपने मानक लेवल से बहुत ऊपर पहुँच चुका है जिसकी वजह से सुप्रीमकोर्ट ने बहुत ही तेजी से अपने फैसले लिए है I

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY