25 सितम्बर पंडित दीन दयाल उपाध्याय के वर्ष भर चलने वाले शताब्दी समारोहों का शुभारंभ

0
329

The Speaker, Lok Sabha, Smt. Sumitra Mahajan inaugurating the Birth Anniversary Celebrations of Pandit Deendayal Upadhyaya, in New Delhi on September 25, 2015. 	The Union Home Minister, Shri Rajnath Singh, the Union Minister for Finance, Corporate Affairs and Information & Broadcasting, Shri Arun Jaitley and the Minister of State for Culture (Independent Charge), Tourism (Independent Charge) and Civil Aviation, Dr. Mahesh Sharma are also seen.

पंडित दीन दयाल उपाध्याय के साल भर चलने वाले शताब्दी समारोहों का आज से शुभारंभ हुआ। लोक सभा अध्यक्ष श्रीमती सुमित्रा महाजन ने आल नई दिल्ली में नेहरू स्मारक संग्रहालय और पुस्तकालय में पंडित दीन दयाल उपाध्याय के जयंती समारोह का शुभारंभ किया।

इस अवसर पर श्रीमती सुमित्रा महाजन ने कहा कि पंडित दीन दयाल उपाध्याय का जीवन सभी पीढ़ियों के लिए प्रेरणा है। उन्होंने कहा कि दीन दयाल उपाध्याय ने जीवन दर्शन के विविध पहलुओं पर प्रकाश डाला जिसमें मानव व समाज के प्रति संवेदनशीलता शामिल है। श्रीमती सुमित्रा महाजन ने बल दिया कि सामाजिक अछूत बुराई है लेकिन राजनीतिक अछूत तो और भी अधिक खतरनाक है। दुनिया भारत की तरफ देख रही है क्योंकि हम विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र हैं इसलिए हमें जीवन में अपने आचरण पर निगरानी रखनी चाहिए।

इस अवसर पर केंद्रीय गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सरकार पंडित दीनदयाल उपाध्याय के सिद्धांतों पर काम कर रही है। श्री राजनाथ ंिसह ने इस बात पर बल दिया कि उनका जीवन दर्शन मानवता एवं अंत्योदय है। उन्होंने कहा कि अंत्योदय दीन दयाल उपाध्याय की राजनीतिक और आर्थिक विचारधारा का बुनियादी सिद्धांत है। सरकार उनके सिद्धांतों का पालन करने और यह सुनिश्चित करने का पूरा प्रयास कर रही है कि समाज के अंतिम व्यक्ति तक वृद्धि और विकास का फायदा पहुंचेे।

केंद्रीय वित्त, कॉर्पोरेट कार्य और सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री अरुण जेटली ने कहा कि वह भाग्यशाली हैं जो इतने महान नेता, दार्शनिक और चिंतक पंडित दीनदयाल उपाध्याय के शताब्दी समारोह में भाग लेने का अवसर मिला। उन्होंने अपने छोटे से जीवन में बहुत सशक्त छाप छोड़ी। श्री जेटली ने कहा कि दीन दयाल उपाध्याय के मानवतावादी विचार और जीवन दर्शन वर्ष भर प्रोत्साहित किए जाएंगे।

संस्कृति (स्वतंत्र प्रभार), पर्यटन (स्वतंत्र प्रभार) और नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री डॉ. महेश शर्मा ने कहा कि दीन दयाल ने अपना सारा जीवन मानवतावादी कार्य के लिए लगा दिया और चरित्र की शुद्धता हासिल की। उनका जीवन सभी पीढ़ियों के लिए प्रेरणा है। डॉ. शर्मा ने कहा कि सरकार उनके सपने साकार करने के लिए जी-जान से काम करेगी। संस्कृति मंत्रालय ऐसे महान नेताओं के शताब्दी समारोह मनाता रहेगा जिन्होंने भारतीय समाज के अपनी दूरदृष्टि के साथ काम किया है।

जयंती समारोह पंडित दीन दयाल उपाध्याय पर चित्र प्रदर्शनी के साथ आरंभ हुआ। पंडित दीन दयाल उपाध्याय के जीवन एवं दर्शन पर आधारित एक फिल्म एकात्म भारत – पंडित दीन दयाल उपाध्याय की जीवन यात्रा भी दिखाई गई। इस फिल्म का निर्माण संस्कृति मंत्रालय ने दिल्ली के दीन दयाल उपाध्याय शोध केंद्र की सहायता से किया है।

इस अवसर पर संस्कृति सचिव श्री नरेंद्र कुमार और संस्कृति मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एनएमएमएल के चेयरमैन प्रोफेसर लोकेश चंद्र भी उपस्थित थे।

Source – PIB

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

thirteen − four =