डीह ब्लॉक की ग्राम पंचायत रोखा मे 29 लाख का घोटाला, जांच शुरू जांच के नाम पर टरका रहे अधिकारी

0
68

डीह/रायबरेली : उत्तर प्रदेश मे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा भ्रष्टाचार को रोकने की दिशा में दिए गए निर्देशो के बावजूद ग्राम पंचायत अधिकारी व ग्राम प्रधान दोनो हाथों से सरकारी धन का बंदर बाँट करने में लगे है। इसका उदाहरण डीह ब्लॉक की ग्राम पंचायत रोखा है। जहाँ ग्राम प्रधान एवं पंचायत सचिव द्वारा सरकरी नियमों को ताख पर रखकर मनमाने तरीके से योजनाओं में घोर अनियमितता कर सड़करी धन का बंदरबांट किया जा रहा है। इस सम्बंध में ग्रामीणों द्वारा शिकायत करने पर भ्रस्टाचार की जांच भी शुरू हो गई। लेकिन प्रधान और सचिव पर कोई कार्यवाही नही की जा रही है। ग्रामीणों में नरेंद्र कुमार पांडेय ,धीरेन्द्र मिश्रा, श्याम पांडेय, मनोज पांडेय , ने शपथ-पत्र पर हस्ताक्षर करके मुख्य विकास अधिकारी रायबरेली से लिखित शिकायत दर्ज कराई |

रोखा पंचायत सचिव ने पात्रों की जगह 40 अपात्रो को आवास आवंटन में प्रथमिकता दी है तथा पक्के मकान वालों को भी आवास दे दिया। आवास के लाभार्थियों से 10000 रुपये की वसूली भी प्रधान पति सोनू द्वारा की गई हैजिसमें जांच सहायक बचत निदेशक रायबरेली और लघु सिंचाई विभाग रायबरेली के द्वारा जांच कराई गई। जांच करता द्वारा अभिलेख न होने की बात कहकर जांच टाल दी गई। और जांच में केवल हाट निर्माण का कार्य पाया गया जो कि संतोष जनक नही है। और उसका कोई बिल बाउचर नही दिया जिसका बजट लगभग 11 लाख के आस पास का है और जांच में अभिलेख न होने की बात 6 महीने से बताई जा रही है इसपर जांच अधिकारी द्वारा कोई कार्यवाही नही की जा रही है और इसी प्रकार शौचालय में भी बड़े पैमाने पर धांधली नजर आ रही है |

जो पत्र व्यक्ति है उनको नही मिल रहा शौचालय अपात्रो को दिए जा रहे है जिसके पास चार पहिया वाहन है और लाइसेंसी भी है उसको दिया जा रहा है जिसके घर मे 3 नाम थे उसको अभी तक एक भी नही दिया गया ग्रामीणों द्वारा ब्लॉक से लेकर डी एम साहब तक शिकायत की गई पर कोई कार्य वही नही हो रही ।।

रिपोर्ट – भूपेन्द्र चंद्र पाण्डेय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here