341 वेटनरी डॉक्टर की सेवा बढ़ी, कुल 6 एजेंडों पर मुहर हुआ कैबिनेट का फॆसला

0
79

पटना (ब्यूरो)- बिहार कैबिनेट की बुधवार 19 अप्रैल को हुई बैठक में कुल 6 एजेंडों पर मुहर लगाई गई. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग अन्तर्गत संविदा के आधार पर राज्यभर में कार्यरत कुल 341 पशु चिकित्सकों (वेटनरी डॉक्टर) की सेवा में 1 साल का और सेवा विस्तार दिया गया है. इस आदेश निर्गत की तिथि से एक और वर्ष के लिए अथवा उक्त पद पर पशु चिकित्सकों के स्थाई पदस्थापन होने तक, जो पहले हो, तक के लिए प्रभावी होगा.

कैबिनेट के अन्य फैसलों के बारे में जानकारी देते हुए प्रधान सचिव ब्रजेश मेहरोत्रा ने बताया कि गृह विभाग (विशेष शाखा) के अन्तर्गत बिहार गृह रक्षा वाहिनी में समादेष्टा संवर्ग के लिए बिहार गृह रक्षा वाहिनी सेवा नियमावली, 2005 के नियम-8 में संशोधन की स्वीकृति दी गई है. इसके अनुसार उपमहासमादेष्टा के स्वीकृत पद को नियमावली में जोड़ा गया है. जल संसाधन विभाग के अन्तर्गत बाढ़ प्रबंधन सुधार सहायक केन्द्र, जल संसाधन विभाग, पटना में पूर्व से कुल छह कार्यरत विशेषज्ञों/परामर्शियों की सेवाओं का वित्तीय वर्ष 2017-18 (01 अप्रैल 2017 से 31 मार्च 2018 तक) की अवधि के लिये पूर्व के सेवा शर्तों के अनुसार सेवा विस्तार एवं उनके मानदेय भुगतान हेतु कुल 32,34,000 रूपये की प्रशासनिक एवं व्यय की स्वीकृति दी गई है.

वहीँ मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन विभाग (निबंधन) के अन्तर्गत बिहार राज्य आवास बोर्ड की सम्पदाओं को लीज होल्ड से फ्री-होल्ड में परिवर्तन करने में लगने वाले स्टाम्प तथा निबंधन शुल्क की देयता सम्परिवर्तन के लिए देय राशि पर आधारित करने की स्वीकृति दी गई. इसके मुताबिक लीज होल्ड से फ्री होल्ड करने वाले में सम्पत्ति शुल्क के 10 प्रतिशत की राशि जो भुगतेय है उसी राशि के आधर पर स्टाम्प तथा निबंधन शुल्क निर्धारित किया जायेगा.

अन्य निर्णय में पथ निर्माण विभाग के अन्तर्गत रामकेश्वर राम, सेवानिवृत्त अधीक्षण अभियंता (असैनिक) को पूर्व में विभागीय अधिसूचना संख्या-7221 (एस०) दिनांक – 06.09.2016 द्वारा दी गयी वैचारिक प्रोन्नति को संशोधित करते हुए दिनांक-08.11.1988 के भूतलक्षी प्रभाव से आर्थिक लाभ सहित अधीक्षण अभियंता (असैनिक) के पद पर प्रोन्नति देने की स्वीकृति दी गई है.

रिपोर्ट- कुमार आशुतोष

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY