35,000 से अधिक मीट्रिक टन दालें जब्त, राज्यों का जमाखोरी के खिलाफ अभियान तेज

0
820

arhar-dal-premium

राज्‍य सरकारों ने दालों की जमाखोरी के खिलाफ अभियान और तेज कर दिया है। विभिन्‍न राज्‍यों में 35,000 से अधिक मीट्रिक टन दालें जब्त की गई है। राज्यवार जब्‍त की गई दालों का ब्‍यौरा इस प्रकार है :-

 

क्र.सं. राज्‍य/केन्‍द्र शासित प्रदेश छापेमारी की संख्‍या जब्‍त की गई दालें

(मीट्रिक टन में)

1. आंध्र प्रदेश 193 859.872
2. छत्‍तीसगढ़ 52 4525.192
3. हरियाणा 227 1168
4. कर्नाटक —- 479.6
5. मध्‍यप्रदेश 25 2295
6. महाराष्‍ट्र 276 23340
7. तेलंगाना 1820 2546
8. तमिलनाडु 29 4.329
9. राजस्‍थान 82 68.475
10 हिमाचल —- 2.44
  कुल 2704 35288.908

केन्‍द्र सरकार हाल ही में राज्‍यों को आवश्यक वस्तु अधिनियम में सुधार कर उन्‍हें दालों के भंडारण की सीमा तय करने का अधिकार दे दिया था। इसके तहत निर्यातकों और आयातकों, बड़ी खाद्य प्रसंस्करण इकाइयां और बड़े विभागीय खुदरा विक्रेताओं के लिए दालों की भंडारण सीमा तय कर दी थी।  इसके साथ ही राज्‍य सरकारों को आकस्मिक निरीक्षण और छापे  मारने करने के लिए प्रोत्‍साहित किया जा रहा है।

हरियाणा में दालों की उपलब्धता बढ़ाने के लिए एमडी और हेडैड को दालों की खरीद और अपनी दुकानों के माध्यम से इसे बेचने के लिए निर्देशित किया गया है।

उत्तराखंड में, देहरादून, हरिद्वार, उधमसिंह नगर में मंडी समितियों द्वारा खुदरा काउंटर खोले गये है, जहां अरहर दाल 145 रूपये प्रति किलोग्राम बेची जा रही है। सभी जिलों को निर्देश दिया गया है कि वे उचित मूल्य की दुकानों के माध्यम से तय की गई कीमतों पर दालें बेचें।

दिल्ली में अरहर दाल 120 रूपये प्रति किलोग्राम सफल और केंद्रीय भंडार की दुकानों के माध्यम से बेची जा रही है।

तमिलनाडु सरकार से मिली जानकारी के अनुसार उड़द की दाल 30 रूपये प्रति किलोग्राम राज्य की सरकारी दुकानों में बेची जा रही है। आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में काला चना 50 रूपये  प्रति‍ किलोग्राम सरकारी दुकानों में बेचा जा रहा है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY