काँटों की सेज है पत्रकारिता

0
107

बलिया(ब्यूरो)- पत्रकार परमेश्वर वर्मा की चौथी पुण्यतिथि मंगलवार को डाकवारा हाल मनाई गई| मुख्य अतिथि के तौर पर पधारे उपजिलाधिकारी राधेश्याम पाठक ने कार्यक्रम की शुरुआत स्व. परमेश्वर के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित व दीप प्रज्वलित कर की|

बतौर मुख्य अतिथि उपजिलाधिकारी राधेश्याम पाठक ने कहा कि पहले की पत्रकारिता और आज की पत्रकारिता में बड़ा अंतर है| पहले सीमित संसाधनों में कार्य करना पड़ता था और अब तकनीकी युग में आसानी से समाचारों का संकलन तुरंत हो रहा है क्योंकि पहले संसाधनों का बड़ा आभाव था| आज तो संसाधन का अभाव नहीं है, लेकिन संघर्ष पहले भी था आज भी है| मैं तो यही कहूंगा कि इंसान को अपने कर्मों से पहचान मिलती है| आज के परिवेश में पत्रकारिता बहुत ही महत्पूर्ण है| समाज को समय समय पर सचेत करने में पत्रकारिता की ही भूमिका महत्पूर्ण रहती है| अपने दौर की पत्रकारिता में परमेश्वर वर्मा ने भी अह्म भूमिका अदा की|

जैसा कि उपस्थित गणमान्य लोगों ने बताया पत्रकारिता सब को खुश नहीं कर सकती| एक पक्ष खबर से गदगद होता है तो दूसरा नाराज! बड़ा ही संघर्ष पूर्ण कार्य है पत्रकारिता| इसे निभाने में पत्रकारों के साथ साथ हम सब का भी दायित्व है| इस मौके पर खण्ड विकास अधिकारी शोभ नाथ मौर्य, पूर्व विधायक शिव शंकर चौहान, सहतवार नगर पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि नीरज सिंह गुड्डू, कोतवाली निरीक्षक जगदीश चन्द यादव, डॉ. डीके शुक्ला, सुरेन्द्र निषाद, विजय गुल्लर, डॉ. विनोद सिंह, सुजीत सिंह, अभिषेक सिन्हा व पत्रकारों में रामप्रताप तिवारी,सन्तोष कुमार शर्मा राममिलन तिवारी, रवीन्द्र सिंह, रविशंकर पाण्डेय, गिरीश तिवारी, पुष्पेन्द्र तिवारी सिंधु व शिवसागर पाण्डेय आदि शामिल रहे|

रिपोर्ट- सन्तोष कुमार शर्मा
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY