6 विस्वा जमीन फिर भी अमीरी रेखा का कार्ड

0
108

रायबरेली। कच्चा मकान और मजदूरी से जीवनयापन करने वाले मूलचन्द्र सरकारी कालोनी के लिये ब्लाक से लेकर ऊंचाहार तहसील तक के चक्कर काट चुके है, फिर भी उसको सरकारी कालोनी नही मिली। वह अधिकारियों की नजर मे पात्र इस लिये नही हो पाता था, क्योंकि उसके नाम राशनकार्ड गरीबी रेखा के ऊपर का बना है, और पीड़ित मूलचन्द्र के मुताबिक उसके पास महज 6 विस्वा जमीन है। किसी तरह दूसरे के यहां मजदूरी करके पेट पालता है, मनरेगा योजना मे कार्य न मिलने पर दूसरों की गुलामी बजाना मजबूरी है।
रिपोर्ट – राजेश यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here