प्रदेश के ६० हज़ार प्राथमिक स्कूल अभी भी अँधेरे में, सबको बिजली देने का प्रयास : श्रीकांत शर्मा

बलिया (ब्यूरो) प्रदेश सरकार के उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा कि प्रदेश के 60 हजार सरकारी प्राथमिक विद्यालयों में अंधेरा है। इन विद्यालयों मं बिजली का कनेक्शन नहीं है। योगी सरकार प्राथमिकता के आधार पर इन विद्यालयों में विद्युत कनेक्शन लगवा रही है।

पत्रकार वार्ता में श्री शर्मा ने कहा कि प्रदेश का बिजली विभाग 21 हजार करोड़ के घाटे में है। फिर भी हम घाटे को पूरा करने के लिए विद्युत दरों मे वृद्घि नहीं कर रहे हैं। सरकार ने विद्युत चोरी व विभागीय भ्रष्टाचार पर रोक लगा कर घाटे को पूरा करने का सफल उपाय किया है। 2018 तक प्रदेश के हर गांव को बिजली उपलब्ध कराने के लिए योगी सरकार कृतसंकल्पित है। सरकार ईमानदार विद्युत उपभोक्ताओं को 24 घण्टे बिजली उपलब्ध कराएगी। प्रत्येक माह फीडरों की समीक्षा की जाएगी, जिन फीडरों में ओवरलोड से होनेवाले फाल्ट का प्रतिशत पन्द्रह से कम होगा, उसके उपभोक्ताओं को अगले माह से 24 घण्टे बिजली दी जाएगी। योगी सरकार भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टालरेंश पर कार्य कर रही है। पूर्व की सरकार के कार्यकाल में हुए भ्रष्टाचार में उनकी सरकार में रहे मुख्य सचिव भी दोषी पाए जाएंगे तो उन्हे भी नहीं बख्शा जाएगा।

एक सवाल के जबाब में उर्जामंत्री ने कहा कि 2012, 2014 और 2017 में जनता द्वारा बुरी तरह नकार दिये जाने के बाद मायावती को कोई अधिकार नहीं है कि वह योगी सरकार के काम-काज के रिपोर्ट कार्ड पर अंक दें। जिनकी सरकार में जेल के अंदर डॉक्टरों की हत्यायें होती रही, उनसे हमें अंक लेने की आवश्यकता नहीं है। कहा कि एक वर्ष के अंदर उत्तर प्रदेश अपराधमुक्त हो जाएगा। उन्होने कहा कि गायत्री प्रजापति को लेकर मुलायम सिंह यादव द्वारा लगाया गया आरोप निराधार है। चुटकी लेते हुए उन्होने कांग्रेस को डूबती जहाज बताया। राष्‍ट्रीय पार्टी के रूप जानी जाने वाली कांग्रेस पार्टी अब पिछलग्गू पार्टी हो गयी है।

जबतक राष्‍ट्रीय सोच का नेता कांग्रेस का नेतृत्व नहीं करेगा, तबतक उस पार्टी का भला नहीं होगा। कहा कि जीएसटी से गरीबों को फायदा होगा और मंहगाई पर अंकुश लगेगा। वहीं, बलिया के दयाछपरा व बेउर इत्यादि ग्राम पंचायतों में घोटाले की पुष्टि होने पर जिलाधिकारी द्वारा कार्रवाई का आदेश जारी करने के बाद भी कार्रवाई न होने जैसे संगीन सवाल को ऊर्जा मंत्री ने काफी गंभीरता से लिया। कहा कि कोई बचेगा नहीं, हर हाल में कार्रवाई होगी। सांसद भरत सिंह, विधायक आनंद स्वरूप शुक्ला, सुरेंद्र सिंह, धनन्जय कन्नौजिया, मंत्री प्रतिनिधि राकेश चौबे भोला, भाजपा जिलाध्यक्ष विनोद शंकर दूबे, गाजीपुर के एमएलसी चंचल सिंह, एसपी सुजाता सिंह, एडीएम मनोज सिंघल सहित प्रशासनिक व पुलिस अधिकारी मौजूद थे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY