आत्महत्या के दुष्प्रेरण में पति को सात वर्ष की कैद

0
100


जौनपुर : पँवारा थाना क्षेत्र में तेरह वर्ष पूर्व पत्नी को आत्महत्या के लिए विवश करने के आरोप में पति को एफ टी सी प्रथम सुनील कुमार सिंह की अदालत ने सात वर्ष के कारावास व ग्यारह हजार रूपये अर्थदंड से दंडित किया।

आभियोजन कथानक के अनुसार भदोही जनपद के औराई थाना क्षेत्र के इस्मैला बभनौटी गाँव निवासी सुभाष चन्द्र शुक्ला ने पँवारा थाने में अभियोग पंजीकृत करवाया कि उसकी बहन ऊषा देवी की शादी सूर्य प्रकाश पाण्डेय पुत्र तीर्थराज निवासी सेमरिया थाना पँवारा के साथ ४ वर्ष पूर्व हुई थी। शादी के बाद ऊषा जब भी मायके जाती थी , तब बताती थी कि उसके ससुराल वाले दहेज में मोटरसाइकिल की माँग करके उसे प्रताड़ित करते थे। माँग पूरी न हो पाने की वजह से उसके पति सूर्य प्रकाश , ससुर तीर्थराज , सास राजमती देवी व ननद माधुरी ने उसकी बहन ऊषा को दिनांक ९ मई २००४ को मिट्टी का तेल छिड़ककर जला दिया और दौरान इलाज इलाहाबाद के स्वरुपरानी अस्पताल में उसी दिन उसकी मौत हो गयी।
अभियोजन पक्ष से जिला शासकीय अधिवक्ता राकेश कुमार यादव व संजय कुमार उपाध्याय द्वारा परीक्षित गवाहों के बयान व पत्रावली पर उपलब्ध साक्ष्य के परीशीलन के पश्चात न्यायालय ने पति सूर्य प्रकाश को भादवि की धारा ३०६ के अन्तर्गत आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरण करने के आरोप में सात वर्ष के कारावास एवं ग्यारह हजार रूपये अर्थदंड से दंडित किया। मुकदमें की सुनवाई के दौरान ससुर तीर्थराज व सास राजमती देवी की मौत हो गयी , इसलिए उनकी पत्रावली अबेट कर दी गयी जबकि माधुरी की पत्रावली उच्च न्यायालय के आदेश से अलग कर दी गयी है।

रिपोर्ट–डा०अमित कुमार पाण्ड़ेय

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here