20 एकड़ ठूंठ सहित 8 एकड़ गेहूँ की खड़ी फसल खाक

0
78
प्रतीकात्मक फोटो

कमालपुर (चंदौली )- रहनी विकास खण्ड के घोसवा, इमिलिया गाँव के सिवान में मंगलवार को अज्ञात कारणों से लगी आग से 20 एकड़ गेहूँ का ठूठ सहित पाँच किसानों की 8 एकड़ गेहूँ की खड़ी फसल जल गयी है ।आग ग्रामीणों के अथक प्रयास से बुझाई गयी ।नहीं तो और किसानों की सैकड़ों एकड़ फसल जल सकती थी। जब आग बुझी तो अन्य किसानों ने राहत की साँस ली।वही सूचना पर एक घंटे बाद आयी फायर बिरिगेड की गाड़ी बैरंग वापस लौट गयी ।

घोसवा इमिलिया गाँव के सिवान में दिन मे ग्यारह बजे के लगभग न जाने कैसे गेहूँ के कटे ठूठ में आग लग गयी। जो पुरूवा हवा के झोंके के साथ धू धू कर जलने लगी और आग आगे बढने लगी। थोड़ी ही देर में इतना विकराल रूप ले लिया कि उसके साथ गेहूँ की खड़ी फसल भी धू धू कर जलने लगी। जिसे देख दूर सिवान में कुछ किसान व मार्ग से जा रहे राहगीरो ने शोर मचाना शुरू किया ।यह सुन एवं आग की लपेट धुआँ देख दो से तीन किलोमीटर दूर गाँवों से आते तब तक आग घोसवा माइनर से इमिलिया माइनर को भी डाक गयी और अपना ताड़व मचाना शुरू कर दिया। जिसमें घोसवा गाँव निवासी बिरेंदर सिंह का तीन एकड़, उमेश सिंह का तीन एकड़, शैलेन्द्र सिंह तीन बीघा, सुनील सिंह तीन बीघा एवं नवनीत सिंह का डेढ़ बीघा, गेहूँ की खड़ी फसल जल गयी ।वहीं कटाई किए गये गेहूँ के ठूंठ इमिलिया गाँव के 15 एकड़ सुरेन्द्र सिंह का तीन एकड़ हरिनारायण सिह का 8 बीघा बंबन सिंह व अनय का जल गया। आग अभी अपनी तेवर मे बढ़ती रही थी। तब तक पहुँचे ग्रामीणों ने लाठी डंडे झांड़ झंखाड़ एवं वृक्ष की टहनियो से पीट पीट अथक प्रयास कर लगभग डेढ़ घंटे बाद तो आग पर काबू पा लिया नहीं तो और भारी नुकसान हो सकता था। जबकि दो तीन दिन मे उन किसानों की फसल कटने वाली थी। बस काटने के लिए हारवेसटर मशीन की बात की जा रही थी। आग लग गयी इससे जहाँ रोटी की समस्या हो गयी है। वहीं सबसे प्रबल पशुओं के भूसे की समस्या उतपंन हो गयी हैं ।किसानों का कहना रहा आदमी तो किसी तरह गुजर बरस कर लेंगे लेकिन पशुओं के चारे का जुगाड़ कैसे होगा ।

रिपोर्ट- कुलदीप यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here