पहले चरण में 81 गांवों को किया जाएगा खुले में शौच से मुक्त


उरई (ब्यूरो) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांछी स्वच्छ भारत मिशन के तहत चलाए जा रहे शौचालय निर्माण योजना को जिले में अमली जामा पहनाने के लिए काम शुरू हो गया है। पहले चरण में 81 गांवों का चयन किया गया है, जहां पर प्रत्येक घर में शौचालय बनवाकर खुले में शौच करने से मुक्त किया जाएगा। इसके लिए बुधवार को पंचायती राज विभाग के उपनिदेशक ने ग्राम प्रधानों की बैठक ली। जिसमें उन्होंने जरूरी दिशा-निर्देश दिए। 

प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत मिशन के तहत जिले को स्वच्छ बनाने के लिए प्रयास जारी हैं। इसके लिए पहले चरण में जिले के 81 गांवों का चयन किया गया है। जिन्हें खुले में शौच से मुक्त किया जाना है। इस मिशन के तहत हर घर में शौचालय बनाने का लक्ष्य रखा गया है। इसीक्रम में बुधवार को पंचायती राज विभाग के उपनिदेशक आरएस चौधरी ने विकास भवन सभागार में इन गांवों के प्रधानों की बैठक ली। इसमें उन्होंने निर्देश दिए कि गांवों के प्रधान अपने-अपने गांव के लोगों को शौचालय बनवाने के लिए जागरूक करें। उन्हें खुले में शौच करने के नुकसानों के बारे में बताएं। उन्होंने कहा कि खुले में शौच करने से गांव में गंदगी तो फैलती ही है, इसके साथ ही बीमारियां भी तेजी से फैलती हैं। इसलिए गांव को स्वच्छ रखने के लिए ग्रामीणों को जागरूक करें और उन्हें घरों में शौचालय बनवाने के लिए प्रेरित करें। ग्रामीणों को बताएं कि शौचालय बनवाने के लिए सरकार द्वारा 12 हजार रुपए की मदद भी दी जा रही है। उन्होंने कहा  िकइस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं बरती जाए। प्राथमिकता के साथ सभी घरों में शौचालय बनवाए जाएं। इस मौके पर मुबारक खान, आशीष निरंजन आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here