एक दृढ निश्चय, 24 दिन, 173 शौचालय, और पूरे गाँव को खुले में शौंच जाने से मुक्ति

0
187

prema jee

मिलिए प्रेमा तिमान्ग्दार से एक ग्राम पंचायत अध्यक्ष बनने जिन्होंने अध्यक्ष के 24 दिनों के अन्दर गाँव में 173 शौचालयों का निर्माण करवाकर रूरे गाँव को खुले में शौंच जाने की मजबूरी से निजात दिला दी |

गाँव की महिलाओं के सम्मान की रक्षा और खुले में शौंच की समस्या को दूर करने के इरादे से पहलीबार चुनावों में उतरी प्रेमा तिमान्ग्दार ने कर्नाटक के खानपुर गाँव के 173 परिवारों के लिए अध्यक्ष बनने के 24 दिन के अंदर शौचालयों का निर्माण करवा डाला जबकि चुनाव के पहले 200 घरों के इस गाँव में सिर्फ 25 घरों में शौंचालय थे |

इस काम के लिए प्रेमा ने स्वच्छ भारत अभियान (यह योजना अंतर्गत प्रत्येक घर को शौचालय निर्माण के लिए 12000, तथा एससी/एसटी को 15000 रुपए की आर्थिक मदद मिलती है) के अंतर्गत काम शुरू किया कम से कम समय में काम खत्म करने के इरादे से प्रेमा कोप्पल में एक कंपनी से मिली जो शौचालय के लिए पहले से निर्मित छत और फर्श बनती है |

इस काम में परमा को कई दिक्कतों का भी सामना करना पड़ा, सरकार की तरफ से सब्सिडी मिलने में देरी हो रही थी तो प्रेमा ने गाँव के लोगों को इकठ्ठा करके उन्हें समझाया और इस काम के लिए पैसे इकठ्ठा किये जो की सरकार से सब्सिडी मिलने के बाद लोगों को वापस क्र दिए जायेगे साथ ही लोगों को शौचालय निर्माण में निजी ज़मीन देने के लिए भी तैयार किया | उन्होने गाँव के नौजवनों और महिलाओं से मिलकर शौचालय निर्माण में सहयोग करने को कहा औउर इस तरह रास्ते में आई सारी रुकावटों का सामना करते हुए अपने पक्के इरादों के चलते मात्र 24 दिनों में गाँव के सभी 173 घरों को खुले में शौंच जाने की समस्या से पूरी तरह मुक्ति दिला दी |

2011 के आंकड़ों के अनुसार भारत के 53.1% घरों में शौचालय उपलब्ध नहीं है, प्रधानमंत्री के सभी को शौचालय अभियान के बाद भी बहुत से गाँव को इस सुविधा का लाभ नहीं मिल पा रहा है |
स्वाच भारत के सपने को पूरा करने के लिए हमे प्रेमा जैसे नेत्रत्व और इच्छाशक्ति की ज़रूरत है, सत्ता में आने के 24 दिनों के अन्दर गाँव के सभी घरों में शौचालय बनवाकर प्रेमा ने दूसरे सभी नेताओं के सामने मिसाल कायम की है | उनका यह कार्य हमारे सरकारी अधिकारीयों और राजनीतिज्ञों के सुस्त रवैये और झूठे बयानों को उजागर करता है |

अखंड भारत परिवार प्रेमा जी इस कार्य की तहे दिल से सराहना करता है और आशा करता है कि हमारा नेतृत्व कर रहे अन्य राजनेता भी उनसे कुछ प्रेरणा लेंगे |

अखंड भारत परिवार बेहतर भारत निर्माण के लिए प्रयासरत है, आप भी इस प्रयास में फेसबुक के माध्यम से अखंड भारत के साथ जुड़ें, आप अखंड भारत को ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

seventeen − eleven =