मेडिकल कालेज से इस्तीफा दे सकते हैं एक दर्जन डाक्टर

0
68

गोरखपुर(ब्यूरो)- प्राईवेट प्रैक्टिस करने वाले सरकारी डाक्टरों के खिलाफ शासन के तेवर सख्त कर लिए है| सरकार की मंशा को देखते हुए प्राईवेट प्रैक्टिस की मलाई खाने वाले डाक्टरों ने सरकारी सेवा छोड़ने की मन बना लिया है| कालेज के करीब एक दर्जन बड़े डाक्टर इस्तीफा भेज सकते है मेडिसिन, पिडिया, आर्थो, जनरल सर्जरी, गायनी, इएनटी और साईकेट्री के डाक्टर शामिल है|

बीआरडी मेडिकल कालेज की पहचान पूर्वाचल के एक मात्र मेडिकल कालेज के रूप मे है नौ सौ वेड के अस्पताल मे रोजाना करीब पांच हजार मरीज ओ.पी.डी.मे इलाज कराने आते है|

माना जाता है कि मेडिसिन विभाग मे तैनात रहे न्यूरो के डा.पवन सिंह ने इसी के चलते इस्तीफा दिया हांलाकि उन्होने इस्तीफा देने के कारण नीजी बताया| बताया जा रहा है कि शासन के सख्ती के बाद डाक्टरों मे खलबली मची हुई है सभी डाक्टर अपना लाभ हानि देख रहे है|

रिपोर्ट- जयप्रकाश यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here