एक पंचर लगाने वाला बना उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री |

0
244

bashidhar baudh

हाल ही में उत्तर प्रदेश की अखिलेश सरकार ने अपनी केबिनेट का विस्तार किया है, जिसमें कई मंत्रियों को अपने पदों से हाथ धोना पड़ा तो कई को बर्खास्त तक कर दिया गया है लेकिन एक बहुत ही विचित्र बात इस बार प्रदेश की अखिलेश सरकार के द्वारा उनकी केबिनेट के विस्तार के समय में देखने को मिली I हमेशा से भ्रस्टाचार और परिवारवाद के आरोप झेल रहे सपा सरकार के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस बार अपनी केबिनेट में एक ऐसे व्यक्ति को सम्मिलित किया है जो कुछ दिन पहले तक बहराइच की सड़कों पर पंचर लगाने का काम किया करते थे I

हम बात कर रहे हैं बीते 31 अक्टूबर को मंत्री बने बहराइच से आये विधायक बंशीधर बौद्ध की, बंशीधर अब सपा सरकार में भले ही मंत्री हैं वह भी पशुपालन जैसे बड़े विभाग के लेकिन उनके खुद के पास न ही कोई गाडी है और न ही कोई बैंक बैलेंस, आज भी वह अपनी उसी झोपड़ी में रहते हैं जहाँ वह पहले रहते थे, आज भी अपनी भैंसो का दूध वह खुद ही निकलते हैं उन्हें चारा भी वह खुद ही खिलाते हैं I आपको बता दें कि मंत्री बनने के बाद जब पत्रकारों ने उनसे पूछा कि क्या आपने कभी यह सोचा था कि आप प्रदेश में मंत्री बन पाएंगे तो इस पर उन्होंने जवाब दिया  कि मंत्री कि तो छोड़िये मैंने तो कभी यह भी नहीं सोचा था कि मैं कभी चपरासी भी बन पाउँगा I बंशीधर जी के रहन सहन और स्वभाव को देखते हुए हम एक बात तो दावे के साथ कह सकते हैं कि वह एक प्रतिष्ठित और सामजिक व्यक्ति हैं, उनके निजी सेवाभाव ने ही उन्हें पहले क्षेत्र में विधायक और अब पशुपालन विभाग का मंत्री बनाया है लेकिन अखिलेश सरकार ने उन्हें जिस विभाग का मंत्री बनाया है वह पहले ही से ही करप्शन के आरोपों से घिरा हुआ हैं I अब हम क्या यह मान लें कि चूँकि वर्ष 2017 में सूबे में चुनाव होने वाले हैं और सूबे में सबसे ज्यादा वोटर खेती और किसानी से ही जुड़े हुए है ऐसे में बंशीधर जी जैसे साफ़ चरित्र के ब्यक्ति को उसी विभाग का मंत्री बनाकर अखिलेश जी अपने दामन पर लगे धब्बों को धोना चाहते हैं और साथ ही एक दलित को मंत्री बनाकर सूबे के दलितों को अपनी ओर आकर्षित करना चाहते हैं , खैर मुख्यमंत्री जी और नेता जी के नाम से मशहूर उनके पिता मुलायम सिंह यादव की मंसा कुछ भी हो लेकिन हम बंशीधर जी से तो यही आशा करेंगे कि जैसे अब तक राजनीति करते हुए भी उनका दामन साफ़ और स्वच्छ है आगे भी बना रहे है I

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

19 − five =