क्रासिंग पर आधे घण्टे खड़ी रही ट्रेन: जाम, आरपीएफ का प्रयास चैनपुलिंग पर बेअसर

0
113

बलिया(ब्यूरो)– रेल प्रशासन के अनेकों प्रयास के बावजूद ट्रेनों में चौनपुलिंग की घटनाओं पर अंकुश नहीं लग पा रहा है। इसीक्रम में मंगलवार की देर शाम चौनपुलिंग के कारण अप उत्सर्ग एक्सप्रेस पश्चिमी केबिन के पास आधा घण्टे तक खङी रही। ट्रेन में तैनात आरपीएफ के जवान भी चैनपुलिंग करने वालों को पकङ नहीं सके। सूचना पर पहुंचे टेक्सपासिंग विभाग के कर्मचारियों ने उसे ठीक करके ट्रेन को रवाना किया। इस दौरान रेलवे क्रासिंग का फाटक आधा घण्टे तक बंद रहने से क्रासिंग के दोनों ओर वाहनों की लम्बी कतारें लग गई। जाम के झाम से निकलने में लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पङा।

रेल प्रशासन के निर्देशानुसार आरपीएफ पुलिस ने चैनपुलिंग पर नियंत्रण करने में कोई कसर नहीं छोङी। चैनपुलिंग पर नियंत्रण के लिए आरपीएफ ने रेलवे ट्रैक के समीपवर्ती गांवों में अभियान चलाकर लोगों को रेल नियमावली का पाठ पढाते हुए जागरूकता अभियान चलाया। आरपीएफ ने अधिक चैनपुलिंग की घटनाओं वाले गांव के प्रधान को नोटिस देकर चौनपुलिंग पर अंकुश लगाने के निर्देश दिए। साथ ही कालेज, स्कूल और महाविद्यालयों में छात्रों को जागरूक करके अपना कर्तव्य बखूबी निभाया, किन्तु चैनपुलिंग के मामले में आरपीएफ पुलिस का भागीरथी प्रयास भी निरर्थक साबित हो रहा है। इसका प्रत्यक्ष प्रमाण मंगलवार की देर शाम देखने को मिला।

प्राप्त जानकारी के अनुसार 18191 अप उत्सर्ग एक्सप्रेस ट्रेन अपने निर्धारित समय के अनुसार बलिया रेलवे स्टेशन से गन्तव्य के लिए रवाना हुई, किन्तु प्लेटफार्म पार करते ही ट्रेन में सवार कुछ अराजकतत्वों ने चैनपुलिंग कर दी| जिससे ट्रेन पश्चिमी केबिन के समीप चित्तू पाण्डेय रेलवे क्रासिंग पर रूक गई। ट्रेन में तैनात आरपीएफ स्कॉर्ड के जवानों ने चौनपुलिंग करने वाले की तलाश की, किन्तु उन्हें सफलता नहीं मिली। वाकीटाकी के सूचना पर पहुंचे टेक्सपासिंग विभाग के कर्मचारियों ने उसे ठीक-ठाक करने के बाद ट्रेन को आगे रवाना किया। तीस मिनट से अधिक समय तक ट्रेन के क्रासिंग पर खङे रहने से जाम लग गया। जाम के झाम में फंसने से लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पङा। यातायात दुरूस्त कराने एवं वाहनों को पास कराने में यातायात पुलिस के पसीने छूट गये। ट्रेन रवाना होने के कई घण्टे बाद लोगों को जाम से निजाद मिली।

रिपोर्ट- संतोष कुमार शर्मा
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here