नतमस्तक प्रशासन: फिर से खुल गयी उपजिलाधिकारी द्वारा बंद करायी शराब की दुकान

0
35

जालौन(ब्यूरो)- चुर्खीरोड पर अवैध रूप से संचालित देशी शराब की दुकान उपजिलाधिकारी ने बंद करा दी थी। उपजिलाधिकारी द्वारा बंद कराई गई शराब की दुकान पुनः शुरू हो गई है इसके बाद भी जिम्मेदार मुकदर्शक बने हुए है।
देशी शराब की दुकान चुर्खीरोड पर संचालित है। बगैर आवश्यक दस्तावेजों के नए स्थान पर खुली शराब की दुकान को लेकर मुहल्ला वासियों में आक्रोश पनप गया व मुहल्ले वासियों ने शिकायते कर धरना प्रदर्शन किया।

शराब के ठेके को लेकर शुरू हुए विवाद के बाद मौके पर पहुचे उपजिलाधिकारी ने ठेकेदार राजकुमार से चोहद्दी प्रमाणपत्र व ठेके का लाईसेंस मांगा जिस पर लाईसेंस न होने पर उपजिलाधिकारी ने जिला आवकारी अधिकारी नरेंद्र कुमार सोनकर से बात करके अवैध रूप से चल रहे ठेके को बंद करा दिया था। शराब माफिया ने आबकारी विभाग से सांठगांठ करके उपजिलाधिकारी द्वारा बंद कराया हुआ ठेका पुनः शुरू कर लिया। उपजिलाधिकारी द्वारा जांच में अबैध पाए गए ठेके के पुनः शुरू हो जाने से प्रशासनिक, पुलिस व आवकारी विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों की कार्यप्रणाली के खिलाफ सवाल उठने लगे है। चुर्खीरोड पर अबैध रूप से संचालित देशी शराब के ठेेके के मामले में जब उपजिलाधिकारी से बात की गई तो उन्होने कहा कि उनके द्वारा बदं कराने के बाद पुनः ठेका चालु होने की रिपोर्ट वह जिलाधिकारी को भेजेंगे जिससे बगैर बैध लाईसेंस के ठेका संचालक के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जा सके।

रिपोर्ट- अनुराग श्रीवास्तव 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY