कानपुर : बन्दर ने लूट ली महिला की चैन, पुलिस परेशान आखिर FIR करें भी तो किसके खिलाफ

0
826
प्रतीकात्मक फोटो
प्रतीकात्मक फोटो

обучениепо индивидуальному учебному планув школе कानपुर के नजीराबाद इलाके में एक मंदिर में पूजा करने के लिए जाती हुई महिला की चैन खींचकर कर एक बन्दर फरार हो गया I महिला जब पुलिस थाने पहुंची तो पुलिस इस बात से परेशान हैं कि आखिर वह FIR दर्ज भी करे तो किसके खिलाफ ? अंत में कानपुर पुलिस ने नगर निगम से बात कर बंदरों को पकडवाने का अभियान शुरू करने के बारे में विचार कर रही हैं I

зачем в школе изучают историю

опреснение морской воды своими руками सूत्रों के माध्यम से प्राप्त जानकारी के अनुसार कानपुर के नजीराबाद थाना क्षेत्र के ही अतर्गत आने वाली कौशलपुरी की रहने वाली एक महिला उर्मिला सक्सेना जिस समय सुबह-सुबह मंदिर जा रही थी तभी जैसे ही वह मंदिर की सीढियाँ चढ़ ही रही थी की तभी एक बन्दर ने आकर उनकी चेन खीचने का प्रयास किया I उर्मिला ने भी अपनी चेन को मजबूती से पकडे रखा लेकिन फिर भी बंदर ने हार न मानते हुए पूरी तो न सही लेकिन आधी चैन जो उसके हाथ लगी लेकर फरार हो गया I

утилиты определения номера сим карты

http://connecticutcre.com/owner/novosti-layf-is-feodal.html новости лайф ис феодал इस पूरे प्रकरण की जानकारी मौकये वारदात पर मौजूद किसी शख्स ने पुलिस को दे दी, पुलिस वहां पहुंची भी लेकिन जब उसने देखा की मामला तो एक बंदर और महिला के बीच का हैं तो पुलिस ने वहां से वापस जाना ही मुनासिब समझा और निकल गयी I

шкатулка палехсвоими руками

http://protecaodepatrimonio.com.br/priority/sposob-obrazovaniya-slova-prohod.html थोड़ी देर बाद पीड़ित महिला पुलिस थाने पहुँच गयी और उन्होंने पुलिस से मदद मांगने की बात कही तो पुलिस ने उन्हें जैसे तैसे समझाया कि अब इन्शान होता तो शायद हम कुछ कर भी सकते हैं लेकिन अब यहाँ तो मामला ही बंदर का ही हैं, इस मामले में क्या कर सकते हैं I महिला को अब अपनी आधी चैन के ही साथ संतोष करना पड़ेगा I

как быстро прорастить семена томатов

http://www.banner-printer.com/priority/raspisanie-kino-arena-barnaul.html расписание кино арена барнаул वहीँ जब नजीरा बाद थाने के इंचार्ज से जब इस प्रकरण में बात की गयी तो उन्होंने बताया कि हम क्या कर सकते हैं यह इंशानी मामला हो तो हम कुछ कर भी सकते अब इनके मामले में भला हम क्या कर सकते हैं I हालाँकि उन्होंने नगर निगम से बात कर बंदरो को पकडवाने का निर्णय लिया हैं I अब देखना यह दिलचस्प होगा कि कितने बंदरों को नगर निगम के लोग पकड पाते हैं या फिर कितनी और चैन लेकर बंदर फरारी मारते हैं I

рассказ м зощенко глупая история