जब पुलिस ही सुरक्षित नहीं तो जनता का क्या होगा ? प्रतापगढ़ में एक और सिपाही को बदमाशों ने मारी गोली


प्रतापगढ़ (ब्यूरो) प्रतापगढ़ में कानून व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गयी है, और बदमाशों का हौसला इतना बढ़ गया है कि अब वे सीधे पुलिस प्रशासन को चुनौती दे रहे हैं और पुलिस कर्मियों पर हमला कर रहे हैं | ऐसी ही एक वारदात आज प्रतापगढ़ के मान्धाता में कोतवाली क्षेत्र में फिर से हुई है, जहाँ कुछ अज्ञात बदमाशों ने एक सिपाही मोहन प्रसाद को दिनदहाड़े गोली मार दी, गोली सिपाही के बाएं कंधे के नीचे लगी है, सिपाही को तुरंत जिला अस्पताल भेज दिया गया है |


घटना की सूचना मिलने पर जिले में कानून व्यवस्था की कमान संभाल रहे एसपी शगुन गौतम समेत एसएसपी पूर्वी व सीओ रानीगंज तुरंत मौके पर पहुंचे, डॉक्टर्स ने सिपाही की हालत को गंभीर बताया है | प्रतापगढ़ में पुलिस पर हमले का यह कोई पहला मामला नहीं है अभी हाल ही में प्रतापगढ़ के रानीगंज क्षेत्र में भी एक सिपाही को बदमाशों ने मौत के घाट उतार दिया था और इससे पहले भी प्रतापगढ़ के इतिहास में इस तरह पुलिस वालों की हत्याएं होती रही हैं | अब ऐसे में सवाल यह है कि क्या प्रतापगढ़ में लोगों को दर के साए में रहना सीख लेना चाहिए क्योंकि यहाँ तो जनता की सुरक्षा करने वाले पुलिस कर्मचारी और अधिकारी खुद ही बदमाशों की गोलियों का शिकार हो रहे हैं और प्रशासन अपने लोगों को बचा पाने में भी असमर्थ दिख रहा है तो ऐसे में इनसे सुरक्षा की उम्मीद करना खुद को झूठी दिलासा देने जैसा ही है |

रिपोर्ट – अवनीश कुमार मिश्रा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here