नशे की खेप संग एक शातिर तस्कर पुलिस के हत्थे चढ़ा

0
177

देहरादून(ब्यूरो)- नशे की खेप संग एक शातिर तस्कर पुलिस के हत्थे चढ़ा है। पुलिस को आरोपी तस्कर के खिलाफ काफी दिनों से शिकायतें मिल रही थी। तस्कर की गिरफ्तारी को पुलिस अपनी बड़ी कामयाबी मान रही है।

प्राप्त समाचार के अनुसार जनपद में नशे के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के अन्तर्गत थानाध्यक्ष बसंत विहार के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। गुरुवार को थानाध्यक्ष बसंत विहार को मुखबिर द्वारा सूचना दी गयी कि नशे के कारोबार करने वाले एक अन्तर्राज्यीय गिरोह का एक सदस्य स्मैक की बडी खेप लेकर देहरादून आने वाला है जो कि पूर्व में भी बडी खेप लेकर देहरादून, हरिद्वार आदि आया है ।

मुखबिर की सूचना पर त्वरित कार्यवाही करते हुये उच्चाधिकारीगणों के दिशा निर्देशानुसार एक टीम का गठन किया गया जिनके द्वारा बनियावाला तिराहे के पास से सुबह 09 बजकर 35 मिनट पर  चैकिंग के दौरान स्मैक सप्लाई के अर्न्तराज्यीय गिरोह के एक शातिर सदस्य आसिफ पुत्र हासिम उम्र 38 वर्ष मूल निवासी मिर्जापुर सहारनपुर, (उप्र.)  तथा हाल निवासी एमडीडीए कालोनी रायपुर चूना (भट्टा के पास),  को 545 ग्राम आधा किलो से ज्यादा) अवैध स्मैक के साथ गिरफ्तार किया गया ।
अभियुक्त से पूछताछ पर ज्ञात हुआ कि उक्त अभियुक्त पूर्व में सहारनपुर एवं उत्तराखण्ड के देहरादून में एवं हरिद्वार में चरस बेचने का काम करता था तथा उसके द्वारा कई बार चरस की बडी खेप उत्तराखण्ड के देहरादून एवं हरिद्वार में सप्लाई की जा चुकी है। अभियुक्त द्वारा बताया गया कि चरस की डिमाण्ड कम होने एवं स्मैक में दोगुने से भी ज्यादा मुनाफा होने के कारण वह विगत काफी समय से स्मैक की सप्लाई कर रहा है। वर्ष 2016 में चरस की भारी मात्रा के साथ सहारनपुर से जेल जाने की बात स्वीकारी है।

पूछताछ में अभियुक्त द्वारा बताया गया कि वह अन्तर्राज्यीय गैंग के सरगना बबलू निवासी फतेहगंज, बरेली, के लिये काम करता है एवं फतेहगंज, बरेली से स्मैक की भारी खेप लाकर आता है। आज भी वह स्मैक की भारी मात्रा देहरादून लेकर आया था, जिसे विभिन्न स्थानो पर स्मैक बेचने का कार्य करने वाले लोगो को थोक में बेचने की फिराक में था। अभियुक्त से बरामद स्मैक उच्च क्वालिटी की है जिसकी अतिसूक्ष्म मात्रा में नशा करने पर जानलेवा साबित हो सकती है। उक्त स्मैक के सप्लाई के अर्न्तराज्यीय सम्बन्धों की जानकारी की जा रही है। अभियुक्त से विस्तृत पूछताछ नारकोटिक ब्यूरो व अभिसूचना इकाई द्वारा भी की जा रही है।

अवैध स्मैक के बरामदगी के आधार पर अभियुक्त आसिफ पुत्र हासिम उपरोक्त के विरूद्ध मु0अ0सं0 74/17 धारा 8/21/60 NDPS ACT पंजीकृत किया गया है। अभियुक्त के आपराधिक इतिहास के बारे में जानकारी की जा रही है। अभियुक्त के सम्बन्ध में ई.डी. को भी सूचना प्रेषित की जा रही है। बताते चलें कि तस्कर से बरामद 545 ग्राम अवैध स्मैक की अर्न्तराष्ट्रीय स्तर पर अनुमानित कीमत 70 लाख रूपये से भी अधिक आंकी गयी है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here