आजादी के बाद एक ऐसा गांव जहां न सड़क है न बिजली

0
84

शाहाबाद/हरदोई(ब्यूरो)- आइए आपको रूबरू कराते हैं एक ऐसे गांव से जिसमें आजादी के कई सालों के बाद भी ग्रामवासी बिजली और सड़क से महरूम है। जी हां, हम बात कर रहे हैं नगरा सिकंदरपुर कल्लू गांव की जो शाहबाद से सिर्फ 4 किलोमीटर दूर है| ऐसा गांव जहां की आबादी लगभग 1000 लोगों की होगी बुनियादों जरूरतों से उनको दो-चार होना पड़ रहा है। इस गांव में नहीं सड़क है और न ही आज तक बिजली पहुंची है| थोड़ी सी ही बरसात में इतना ज्यादा कीचड़ हो जाता है कि लोगों का पैदल निकलना भी मुश्किल हो जाता है।

ग्रामीणों ने बताया कि बरसात के मौसम में इतना पानी भर जाता है कि जैसे किसी नदी को पार कर रहे हो| ग्रामीणों का कहना है कि एक बार बहुत पहले जब अशोक बाजपेई मंत्री थे तो उन्होंने सड़क पर पत्थर डलवा दिए थे लेकिन रोड नहीं बना था उसके बाद वह पत्थर वहां से गायब हो गए और फिर जस के तस रोड हो गया। गांव का एकमात्र प्राथमिक विद्यालय जहां पर बाउंड्री वाल भी नहीं है। हालांकि अभी एक महीने खंबे हम जरूर आ गए हैं बिजली के लिए लेकिन अभी उसमें तार नहीं पड़े हैं।

ग्रामीण उस दिन की उम्मीद में है कि कब उन खंबों में तार डाले जाएंगे और बिजली चालू होगी। ग्रामीणों ने बताया जब इलेक्शन आते हैं जनप्रतिनिधि यहां पर आते हैं बड़े-बड़े वादे करते हैं| कहते हैं कि हम को वोट दो तो हम बिजली और सड़क बनवा देंगे लेकिन जीतने के बाद कोई दोबारा लौटकर नहीं आता है| ग्रामीणों में बहुत आक्रोश है, ग्रामीण अमरीश दिलीप कुमार चेतराम ने बताया कि अगर अबकी बार इस सरकार में बिजली और रोड नहीं बना तो हम लोग वोट नहीं देंगे चुनाव का बहिष्कार करेंगे।

रिपोर्ट – डॉ. शाहिद खान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here