आगनवाड़ी में हुए फर्जी नियुक्ति के मामले में 3 पर केस दर्ज

0
124

बलिया(ब्यूरो)- रसड़ा विकासखंड के नगरा गांव की आंगनवाड़ी कार्यकत्री द्वारा अपनी कम उम्र छिपा कर गलत प्रमाण पत्र के सहारे नौकरी करने पर उसके पति सहित तत्कालीन ग्राम प्रधान तथा तीन अन्य लोगों पर चार सौ बीस का मुकदमा दर्ज करने का आदेश सी. जे. एम. अमित मालवीय ने दिया है। बता दें कि इस मामले पर नगरा थाना की पुलिस ने मुकदमा भी दर्ज कर लिया है और मामले की छानबीन में जुट गई है।

बताते चले कि रसड़ा विकासखंड के चंद्रवार गांव निवासी हरिकेश चौधरी अपने ही गांव की एक महिला पर आरोप लगाया है कि रसड़ा निवासी श्रीमति शीला तिवारी पत्नी शिवानंद तिवारी आंगनबाड़ी कार्यकत्री के पद पर दिनांक 27 अप्रैल 1984 अपने ग्राम सभा चन्द्रवार पर अपनी उम्र छिपा कर नियुक्ति करा लिया जबकि जूनियर हाईस्कूल 1983 के अंक पत्र जन्म तिथि एक अगस्त 1969 तथा हाईस्कूल सन 1990 के प्रमाणपत्र में जन्म तिथि 01-08-1969 है।

इस तरह से शीला तिवारी आंगनबाड़ी कार्यकत्री की नियुक्ति के समय उम्र चौदह वर्ष आठ माह छब्बीस दिन हो रहा था पर तत्कालीन ग्राम प्रधान बालेश्वर तिवारी और उनके भाई शिवानंद तिवारी जो आंगनबाड़ी कार्यकत्री शीला तिवारी के पति है तथ्य छिपाकर नियुक्ति करा दी थी। गांव के हरिकेश चौधरी ने अदालत का दरवाजा खटखटाया था । मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत ने इन तीन लोगों के ऊपर नगरा थाना में 419, 420, 120बी के तहत मुकदमा दर्ज कर दिया है।
रिपोर्ट-संतोष कुमार शर्मा
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY