स्वदेशी तकनीक से बनी से आकाश सुपरसोनिक मिसाइल वायुसेना में शामिल

0
554

Aakash misile

स्वदेशी सुपरसोनिक आकाश मिसाइल को 10 जुलाई को वायु सेना में शामिल कर लिया गया I भारत के रक्षामंत्री श्री मनोहर परिर्कर ने ग्वालियर के महाराजपुर वायु स्टेशन पर एक क्रायक्रम के दौरान इसे आधिकारिक तौर पर वायु सेना अध्यक्ष अरूप राहा को सौंप दिया I

 

इसकी खासियत –

  • यह मिसाइल जमीन से हवा में मार कर सकती हैं
  • इस मिसाइल में 92% देशी यंत्रों और उपकरणों का प्रयोग किया गया हैं
  • इस मिसाइल को अनुसंधान एवं विकास संगठन (डी.आर.डी.ओ.), भारत इलेक्ट्रिकल्स और निजी क्षेत्रों के सहयोग से बनाया गया हैं
  • इस मिसाइल को जल, थल और वायु किसी भी मार्ग से कहीं भी ले जाया जा सकता हैं
  • यह मिसाइल एक ही बार में एक ही साथ 8 लक्ष्यों को निशाना बना सकती हैं
  • इसकी गति आवाज से तीन गुनी अधिक हैं और यह लगभग 100 किलोमीटर की ही दूरी से ही दुश्मन पर नजर रखती हैं और 25 किलोमीटर की दूरी पर आते ही दुश्मन को ख़त्म कर सकती हैं
  • आकाश 30 किलोमीटर की दूरी पर उड़ रहे किसी भी विमान, हेलीकाप्टर, ड्रोन या फिर किसी अन्य दुश्मन की चीज को निशाना लगाकर ख़त्म कर देने में पूरी तरह से सक्षम हैं

इस मिसाइल की विशेषतायें –

  1. इसकी लम्बाई – 19 फीट हैं
  2. व्यास – 35 सेमी
  3. वजन – 720 किलो
  4. आयुध क्षमता – 60 किलो
  5. किसी भी मौसम में मार करने में सक्षम हैं
  6. यह मिसाइल एक ही साथ 5 विमानों पर हमला कर सकती हैं
  7. एक ही साथ 100 टारगेट पर नजर रख सकती हैं

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

7 − 5 =