आंधी के कारण टूटे बिजली के खम्भे, बिजली आपूर्ति हुई ठप

0
58

जालौन (ब्यूरो)- बुधवार की दोपहर हल्की बारिश के साथ गिरे ओलों ने मौसम को सुहावना बना दिया। तो वहीं, धूल भरी आंधी से लोगों को परेशानी हुई। आंधी के कारण जगह-जगह टूटे बिजली के तारों के कारण नगर व ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली व्यवस्था पूरी तरह ठप्प हुई। इसके अलावा टूटे पेड़ों के कारण यातायात व्यवस्था भी प्रभावित हुई।

पिछले एक सप्ताह से अधिक समय से लगातार भीषण गर्मी पड़ रही थी। जिसके कारण सामान्य जन जीवन अस्त व्यस्त था। सूर्य देवता के लगातार प्रचंड रूप धारण करने से मानव ही नहीं बल्कि पशु पक्षी भी बेहाल थे। बुधवार की दोपहर अचानक धूल भरी आंधी के साथ आई बारिश व ओलों ने तापमान नीचे ला दिया एवं गर्म हवाओं से लोगों को राहत दी। जिससे लोगों को इस भीषण गर्मी में कुछ राहत महसूस हुई। हल्की बारिश व ओलों ने जहां एक ओर लोगों को राहत प्रदान की तो वहीं धूल भरी तेज आंधी ने लोगों को परेशानी में भी डाल दिया। तेज आंधी में क्षेत्र में सैंकड़ों पेड़ या तो जमींदोज हो गए अथवा उनकी डालियां आदि टूट पर जमीन पर गिर गई। जिससे कुछ जगहों पर लोगों को नुकसान भी हुआ। इतना ही नहीं कहीं, कहीं यातायात भी प्रभावित हुआ। बाद में सड़क पर गिरे पेड़ों को हटाकर यातायात सुचारू कराया जा सका।

आंधी के कारण लोगों के घरों में लगे टीन शैड तक उखड़कर दूर जा गिरे। गनीमत यह रही कि कहीं कोई बड़ी दर्घटना नहीं हुई। औरेखी गांव में भी आंधी के कारण काफी नुकसान हुआ लोगों के घरों के टीन शैड उड़कर दूर जा गिरे। आंधी के कारण सबसे अधिक नुकसान बिजली विभाग को हुआ। जगह-जगह पेड़ टूटकर गिरने से नगर व ग्रामीण क्षेत्रों में कई स्थानों पर तार टूट कर गिर गए। कई स्थानों पर खंभे तक उखड़कर गिर गए। तार व खंभे टूटने से नगर व ग्रामीण क्षेत्रों में दोपहर एक बजे से बिजली आपूर्ति पूरी तरह ठप्प हो गई। बिजली व्यवस्था ठप्प होने से नगर में पेयजल की आपूर्ति भी नहीं हो पाई। जिससे लोगों को काफी परेशानी हुई। नगर में बिजली व्यवस्था दुरूस्त होने में जहां 10 से 12 घंटे लगने की उम्मीद है तो वहीं ग्रामीण क्षेत्र की बिजली व्यवस्था बहाल होने में 24 घंटे तक का समय लग सकता है। इस संबंध में जब जेई राजेश शाक्य से बात की गई तो उन्होंने बताया कि बिजली व्यवस्था को बहाल करने में 5 टीमें लगाई गई हैं। जो लाइनों को ठीक करने में लगी हैं।

रिपोर्ट- अनुराग श्रीवास्तव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY