अब बवालियों को रोकेगा बदबू बम

0
53

कन्नौज (ब्यूरो)- अब बवालियों को रोकेगा बदबू बम, जी हां बदबू बम। इसे बनाया है कन्नौज में स्थापित केंद्र की स्वायत्तशासी संस्था एफएफडीसी ने। सुगन्ध एवं सुरस पर रिसर्च के लिए स्थापित की गयी यह लेबोरेट्री पिछले 12 साल से रक्षा मंत्रालय के साथ बदबू बम पर रिसर्च कर रही है। एफएफडीसी के साइंटिस्ट की माने तो दुर्गन्ध का फॉर्मूला बनाकर रक्षा मंत्रालय की ग्वालियर स्थित लेबोरेट्री को भेज दिया गया है। रक्षा मंत्रालय की अनुमति मिलने के बाद इसे इस्तेमाल करने के लिए बल्क में तैयार किया जाएगा। –

कश्मीर के पत्थरबाज हों या दिल्ली में छोटे छोटे मुद्दों पर हंगामा करने वालों की भीड़। इन्हें तितर बितर करने में फोर्स को नाको चने चबाने पड़ते हैं। कहीं उन पर आंसू गैस के गोले छोड़े जाते हैं तो कहीं पैलट गन का इस्तेमाल किया जाता है। अब इन्हें रोकनव के लिए जल्द ही फोर्स के हाथों में होगा बदबू बम जी हां बदबू बम। इसे तैयार किया है कन्नौज में स्थित लैबोरेट्री एफएफडीसी ने।

इत्र कारोबार को बढ़ावा देने केंद्र सरकार ने 20 साल पहले कन्नौज में फ्लेवर ऐंड फ्रेगरेंस सेंटर की स्थापना करवाई थी। सेंटर ने लगातार अपने रिसर्च से इत्र के नए नए इस्तेमाल के तरीकों की खोज भी की। अब एफएफडीसी ने बवालियों को भगाने की नई तकनीकी बदबू बम ईजाद किया है।एफएफडीसी के प्रधान निदेशक का कहना है कि डिफेंस लैब से बदबू बम पर फोन पर बात हुई है। अगर आगे वह इसे इस्तेमाल करने के लिए कोई आदेश देतें है तो गन्ध को बवालियों पर इस्तेमाल करने में तरीकों पर काम किया जाएगा।

रिपोर्ट- सुरजीत सिंह

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY