आत्महत्या के दुष्प्रेरण में पति को सात वर्ष की कैद

0
104

jail

जौनपुर(ब्यूरो)– बदलापुर थाना क्षेत्र में दस वर्ष पूर्व पत्नी को आत्महत्या के लिए विवश करने के आरोप में पति को अपर सत्र न्यायाधीश चतुर्थ एम पी सिंह की अदालत ने सात वर्ष के कारावास व ग्यारह हजार रूपये अर्थदंड से दंडित किया।

आभियोजन कथानक के अनुसार सुल्तानपुर जनपद के लम्भुआ थाना क्षेत्र के मदनपुर पनियार गाँव निवासी विनय कुमार सिंह ने बदलापुर थाने में अभियोग पंजीकृत करवाया कि उसकी बहन पूनम की शादी राघवेन्द्र सिंह पुत्र अनिरुद्ध निवासी मरगूपुर थाना बदलापुर के साथ दिनांक ८ मई २००७ को हुई थी। शादी के बाद पूनम जब भी मायके जाती थी , तब बताती थी कि उसके ससुराल वाले सफाईकर्मी की नियुक्ति करवाने के लिए पचास हजार रूपये नकद व मोटरसाइकिल की माँग करते थे।
माँग पूरी न हो पाने की वजह से उसके पति राघवेन्द्र , सास राधा , जेठ सुरेन्द्र प्रताप , जेठानी मंजू व देवर विक्कू मिलकर दिनांक २७ मार्च २०१२ को सुबह आठ बजे पूनम को मारपीटकर उसके गले में रस्सी लटकाकर उसकी हत्या कर दिए।
अभियोजन पक्ष से सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता प्रकाश मिश्र द्वारा परीक्षित गवाहों के बयान व पत्रावली पर उपलब्ध साक्ष्य के परीशीलन के पश्चात न्यायालय ने पति राघवेन्द्र को भादवि की धारा ३०६ के अन्तर्गत आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरण करने के आरोप में सात वर्ष के कारावास एवं ग्यारह हजार रूपये अर्थदंड से दंडित किया।


रिपोर्ट–डा०अमित कुमार पाण्डेय

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY