विधायक अरुण वर्मा समेत अन्य से जुड़े गैंगरेप प्रकरण में सुनवाई टली सुनवाई

0
103

सुलतानपुर – सदर विधायक अरुण वर्मा समेत अन्य से जुड़े गैंगरेप प्रकरण में सुनवाई टल गयी है, वकीलों के न्यायिक कामकाज से विरत रहने व जेल में निरुद्द मुल्जिमो को सुनवाई के दौरान न पेश किये जाने के चलते सुनवाई को टाला गया है, अभियोगी राजेंद्र सिंह की तरफ से अकेले सदर विधायक अरुण वर्मा को बतौर अभियुक्त परिक्षण के लिए तलब करने हेतु दी गई है दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 319 के अंतर्गत अर्जी, अभियोगी की इस अर्जी पर जेल में निरुद्द आरोपी गुड्डू लाला, आशुतोष उर्फ़ आशू सिंह,अंजुम खान व जमानत पर रिहा चल रहे सह आरोपी केशकुमारी उर्फ़ अनीता सिंह व मोनू खान की तरफ से दाखिल की गई है|

आपत्ति दाखिल होने की वजह से कोर्ट दोनों पक्षो की मौजूदगी में ही अर्जी पर सुनवाई करेगी | चुनाव ड्यूटी में लगे पुलिस बल की कमी से जेल में निरुद्द मुल्जिम कोर्ट में नही पेश हो पा रहे है | जिसकी वजह से सत्र न्यायाधीश श्यामजीत यादव ने जेल में निरुद्द मुल्जिमो को तलब करने का आदेश पारित करते हुए अर्जी पर सुनवाई के लिए 14 मार्च की तिथि की है नियत की है |

मालूम हो कि 18 सितम्बर 2013 की घटना बताते हुए अभियोगी राजेंद्र सिंह ने कोतवाली नगर में अपनी पुत्री के गायब होने व गलत महिला के जरिये उसकी सुपुर्दगी ले लेने का आरोप लगाते हुए दर्ज कराया था | जिसके बाद बरामद लड़की ने 9 अक्टूबर 2013 को अदालत के समक्ष हुए 164 दप्रसं के बयान में शहर के एक गेस्ट हाऊस में सदर विधायक अरुण वर्मा, आशू सिंह, अंजुम खान, मोनू खान, गुड्डू लाला व धीरेंद्र सिंह के खिलाफ गैंगरेप के आरोप में व उनके सहयोग में सहआरोपी केशकुमारी व सिपाही पूनम यादव का नाम लिया था |

तीन बार में पुलिस ने आरोपी गुड्डू लाला, मोनू खान, अंजुम खान, केशकुमारी व आशुतोष सिंह के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया था, विधायक अरुण वर्मा, सिपाही पूनम व धीरेंद्र सिंह के खिलाफ सबूत न मिलने के चलते दो-दो बार उन्हें क्लीन चिट मिल चुकी है | अभियोगी राजेंद्र सिंह व उसकी बेटी/पीड़िता भी अदालत में हुए साक्ष्य के दौरान विधायक अरुण वर्मा को बेक़सूर बता चुके है|

लेकिन आपको बता दें कि मामले में नया मोड़ तब आ गया जब पीड़ित ने अपने ही बयान को गलत बताते हुए तर्क पेश किये और कहा कि उनके साथ दुष्कर्म अकेले अरुण वर्मा ने ही किये है | इस अर्जी में सह आरोपी पूनम यादव व धीरेंद्र सिंह को तलब करने के लिए मांग नही की गयी है | इस अर्जी के परिणाम को लेकर सभी को बेहद बेसबरी से इंतजार है| आपको यह भी बता देते है कि, यह मामला जिला न्यायालय से लेकर हाईकोर्ट तक पहुँच चुका है | मालूम हो कि अभी हाल ही पीडिता की ह्त्या भी हो चुकी है जिसकी जांच अभी भी पुलिस कर रही है |

रिपोर्ट-संतोष कुमार यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here