वन विभाग के कर्मचारियों की मिली भगत से हो रही अवैध कटाई

0
125

परसदेपुर/रायबरेली(ब्यूरो)- पर्यावरण संतुलन के लिए के लिए सरकार वृक्षारोपण के नाम पर करोड़ों रुपए खर्च कर रही है। परंतु हरियाली मिटाने पर आमादा है लकड़ कट्टे और वन विभाग के कर्मचारी प्रतिबंधित हरे पेड़ को लकड़ कट्टों ने काट डाला और लकड़ी जनपद की सीमा पर स्थित आरा मशीन पर भेजने का प्रयास किया। जिसमें से कुछ लकड़ी जनपद की सीमा पर से पार हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शेष बची हुई लकड़ी मय ट्रैक्टर के साथ पकड़ा और पुलिस चौकी ले आई।

मामला डीह थाना की पुलिस चौकी परशदेपुर क्षेत्र के अंतर्गत महेशपुर का है। जहां प्राथमिक विद्यालय के सामने आरक्षित खलिहान की भूमि पर महुआ के पेड़ को गांव के ही निवासी पवन कुमार यादव पुत्र राम मनोहर यादव ने भेज दिया। जिसे मुनेश्वर और पदारथ लकड़ कट्टों ने पेड़ को काट दिया, जब पुलिस को सूचना मिली तब तक लकड़ कट्टों ने चार ट्राली लकड़ी दूसरे जनपद की सीमा पर स्थित आरा मशीन गाजीपुर पहुंचा दिया।

पुलिस को मौके पर एक ही ट्राली लकड़ी मिली। जिसे चौकी प्रभारी राम पांडे ने पुलिस चौकी पर लाकर खड़ा किया। इस संबंध में बात करने पर उन्होंने बताया कि चोरी से काटे गए पेड़ की लकड़ी बरामद की गई है। जिसे पुलिस चौकी में ट्रैक्टर सहित लाकर खड़ा कर दिया गया है। आगे की कार्यवाही उप जिला अधिकारी को करना है। समाचार लिखे जाने तक रिपोर्ट नहीं दर्ज की गई थी। सूत्रों का कहना है कि मामले को सुलझाने के लिए दलाल सक्रिय है।

रिपोर्ट- अनुज मौर्य/खुर्शीद

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY