अधिवक्ता हत्याकांड में हिस्ट्रीशीटर व उसकी पत्नी समेत 10 खिलाफ आरोप पत्र दाखिल

0
89

सुलतानपुर (ब्यूरो)- अधिवक्ता विजय प्रताप हत्याकांड में हिस्ट्रीशीटर व उसकी पत्नी समेत दस आरोपियों के खिलाफ सीजेएम कोर्ट में मंगलवार को आरोपपत्र दाखिल किया गया। जिस पर प्रभारी सीजेएम सपना शुक्ला ने संज्ञान लेते हुए सभी आरोपियों को रिमांड के लिए अगली पेशी पर तलब किया है।

मालूम हो कि कोतवाली नगर क्षेत्र में बीते 28 अक्टूबर को घर से कोर्ट आते समय अधिवक्ता विजय प्रताप सिंह को बाइक सवार बदमाशों ने गोली मार दी थी। जिनकी अगले दिन इलाज के दौरान मौत हो गई। इस मामले में उनके भाई मनोज सिंह ने जेल में निरूद्ध हिस्ट्रीशीटर जितेन्द्र सिंह मुन्ना व उसके भाई शारदा प्रताप सिंह की साजिश से हत्या किये जाने का आरोप लगाया।

मामले में पुलिस ने भी काफी दिनों तक जमकर लापरवाही बरती। नतीजतन अधिवक्ता संघ भी पुलिसिया कार्यशैली के विरोध में उतर आया। यहां तक कि मामला हाईकोर्ट तक भी पहुंच गया। हाईकोर्ट के आदेश के अनुपालन में प्रकरण की तफ्तीश भी कोतवाल के पास से हटाकर क्षेत्राधिकारी नगर को सौंप दी गई। सीओ मुकेश चन्द्र मिश्रा ने तफ्तीश के दौरान जितेन्द्र सिंह, उसके भाई शारदा सिंह, पत्नी सावित्री सिंह निवासीगण रामनगर कोट एवं सहयोगी मोहित मिश्रा- मिश्रा ने उमरी, सूरज यादव-ढकवा, लल्लन राय-इमिलिया कला, विष्णु द्विवेदी-सोहगौली, रामअचल कोरी-लोखड़िया पार गोड़वा, शुभम उर्फ़ शिवम-इमिलिया, मनोज मिश्रा-वैदहा का नाम प्रकाश में लाते हुए उनके खिलाफ मिले सबूतों के आधार पर इस हत्याकांड में आरोपी बनाया है।

इसी मामले में मंगलवार को सभी आरोपियों के विरूद्ध सीजेएम कोर्ट में आरोपपत्र दाखिल किया गया। जिस पर संज्ञान लेते हुए प्रभारी मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सपना शुक्ला ने आरोपियों को अगली पेशी पर न्यायिक रिमांड के लिए तलब किया है।


रिपोर्ट- दीपक मिश्रा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY