मांगों के समर्थन में अधिवक्ताओं ने दिया धरना

0
96

सिकन्दरपुर(बलिया)। तहसील के सभागार में ऑल इंडिया बार काउंसिल एसोसिएशन के आह्वान पर अधिवक्ता संघ सिकंदरपुर-बलिया के द्वारा वकीलों के वेलफेयर के लिए 5 हजार करोड़ आवंटित करने की मांग को लेकर धरना -प्रदर्शन किया गया ।
साथ ही अधिवक्ता कार्य बहिष्कार पर रहे।

अधिवक्ताओं ने दूसरे दिन भी धरना जारी रखा तथा कार्य बहिष्कार किया।अधिवक्ताओं ने अक्षम एवं वृद्ध वकीलों को पेंशन तथा पारिवारिक पेंशन की व्यवस्था करने,की मांग की।
अपनी विभिन्न मांगों को लेकर आल इंडिया बार काउंसिल के आह्वान पर सिकन्दरपुर तहसील सभागार में अधिवक्ताओं की दो दिवसीय हड़ताल मंगलवार को भी जारी रखी गई। उन्होंने काम-काज ठप रखकर अपने हक में आवाज उठाई। अधिवक्ताओं की हड़ताल के चलते वादकारियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।
अधिवक्ताओं नें तहसील सभागार में बैठक कर प्रधानमंत्री द्वारा अधिवक्ता कल्याण संबंधित मांगों के संबंध में कोई निर्णय नहीं लिए जाने पर आक्रोश जताया। उनकी प्रमुख मांगें अधिवक्ताओं को दस हजार रुपये मासिक धनराशि देने, अधिवक्ताओं की आकस्मिक मृत्यु पर उनके परिजनों को 50 लाख रुपये देने एवं बीमार होने पर निशुल्क चिकित्सा व्यवस्था करने आदि हैं। ततपश्चात सिकन्दरपुर तहसील के मेन गेट पर सिकन्दरपुर बेल्थरा मार्ग को बाधित करके सड़क पर धरना प्रदर्शन किया। 20 मिनट तक आवा गमन बाधित रहा।
कार्य बहिष्कार करते हुए अधिवक्ताओं ने दूसरे दिन भी धरना जारी रखते हुवे कार्य बहिष्कार किया।
इस अवसर पर अधिवक्ताओं ने कहा कि आगे भी एसोसिएशन के निर्देशानुसार मांगे पूरी नहीं होने पर देश व प्रदेश व्यापी हड़ताल किया जाएगा।

इस अवसर पर विजय शंकर राय बार एसोसिएशन सिकंदरपुर के अध्यक्ष, उपेंद्र राय पूर्व अध्यक्ष, शंभू नाथ पूर्व अध्यक्ष ,कैलाश चौहान पूर्व अध्यक्ष, जितेश कुमार वर्मा, परवेज आलम, इरफान अहमद, मदन मोहन राय पूर्व अध्यक्ष सुशील कुमार सिंह आदि लोग मौजूद रहे।

रिपोर्ट-इमरान खान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here