आखिर ऐसे कौन से कारण, जिसने नालों की हुई ये हालत

पीलीभीत (ब्यूरो): माननीय प्रधानमंत्री जी योगी जी के सपनो को पलीता लगाती शहर की नगर पालिका ,पीलीभीत शहर है या कस्बा बद से बत्तर हालात है बरसात के मौसम को देखते हुये हर साल शहर में ड्रेनेज सिस्टम पानी निकास को शहर में 35 नाले है ,जिनसे शहर का पानी नालो के माद्यम से पैसा होता है। बरसात शुरू हो चुकी है ,लेकिन हमारी पालिका के द्वारा अभी तक नालो की सफाई नही कराई जा सकी है ,शासन से इन नालो की सफाई हेतु 39 लाख रुपया आया था ,जिसमे 35 नालो की सफाई के लिये ठेकेदारों को कार्य करने हेतु ठेका दिया गया था ,लेकिन एक पखबाड़ा बीतने के बाद भी आज तक 35 नालो की तली झाड़ सफाई नही हुई है ,आखिर ऐसे कौन से कारण है।

जो नालो की सफाई का कार्य अभी तक पूर्ण नही हुआ है ,अगर हुआ भी है बो अधूरा कार्य हुआ है ,किसकी देख रेख में कार्य हो रहा है ,किन मानको के अनुसार कार्य हो रहा है ,क्या मानक है नालो की तली झाड़ सफाई के लिये ,अब तक जो कार्य 29 नालो की सफाई हो चुकी है क्या प्रशासन उस कार्य से सन्तुष्ट है ,बरसाती मौसम को देखते हुये शहर में पानी भर जाने से शहर नर्क बन जाता है ,सारी नाले नालियो की कीचड़ गन्दगी सड़क पर आ जाती है ,जिससे जन मानस का निकल पाना दूभर हो जाता है ,लेकिन हमारी नगर पालिका के कानों पर जू तक नही रेंगती है !क्या है जिम्मेदारी पालिका की शहर के नये आयाम को ,स्वच्छता को लेके ,पेयजल व्यबस्था को लेके ,प्रकाश व्यबस्था को लेके कोई खाका है क्या ढाक के तीन पात कुछ नही ,उसी ढर्रे पर चल रही है।

जैसे पिछले कार्यकालों में रहा ,शहर के नालो की कुछ तस्वीरें जो आज गौहनिया चौराहे से स्टेडियम रोड को विशाल टाकीज के पास की ,नालो की सफाई में सब गोल माल है ,सिर्फ कागजो तक सफाई होना जमीनी स्तर पर नालो की सफाई के नाम पर शून्य आप जागरूक मतदाता है कृपया अपनी जागरूकता का परिचय दे ,35 नालो की सफाई कार्य का किसी जाँच टीम की देख रेख में कार्य हेतु कमेटी का गठन कर कार्य होना सुनिश्चित हो ,तब कहि शहर जल भराब से मुक्त हो पायेगा !

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here