डीएम व विधायक के अथक प्रयास के बाद प्रखंड वासियों को मिला भ्रष्ट CEO मुक्ति

0
61

विभूतिपुर/समस्तीपुर(ब्यूरो)- विभूतिपुर अंचल के वासियों को डीएम और स्थानीय विधायक श्री राम बालक सिंह के अथक प्रयास के बाद अपने कर्तव्य से विमुख सीईओ से मिली मुक्ति अंचलाधिकारी के गलत कार्यशैली के कारण अंचल के आम लोगों को काफी परेशानी हो रही थी| आम लोगों के द्वारा कई बार प्रभारी अंचलाधिकारी इंद्रदेव राम के खिलाफ पत्रकारों से भी शिकायत किया गया था और लोग स्थानीय जनप्रतिनिधि को भी उनके खिलाफ शिकायतें की थी l लेकिन सीईओ साहब किनहीं की बात सुनने को तैयार ही नहीं थेl

सीईओ साहब के खिलाफ लोगों ने जिला पदाधिकारी से लेकर बिहार सरकार तक को पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग की थी। प्रखंड के सभी जनप्रतिनिधि प्रभारी अंचलाधिकारी इंद्रदेव राम से खफा ही रहते थे। चाहे वे पंचायत समिति सदस्य हौ या फिर मुखिया चाहे प्रखंड प्रमुख। प्रखंड में जब भी पंचायत समिति का बैठक हुआ किसी भी बैठक में प्रभारी अंचलाधिकारी उपस्थित नहीं हुए ,जिस वजह से बैठक को स्थगित कर दिया जाता था। जिस वजह से जनप्रतिनिधि लोग सीईओ से खफा थे ।

बता दें कि बिहार सरकार के द्वारा पत्र भेजा गया है जिसमें प्रभारी अंचलाधिकारी श्री इंद्रदेव राम को निलंबित करने की अनुशंसा की गई है ।।बिहार सरकार के राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के द्वारा अधिसूचना संख्या- 03 /स्था0अं0अ0 (आरोप)- 02/2015(3)/रा0, पटना 15, दिनांक 06 .2017
श्री इंद्रदेव राम प्रभारी अंचलाधिकारी विभूतिपुर समस्तीपुर के विरुद्ध समाहर्ता, समस्तीपुर द्वारा आरोपपत्र “क” में गठित आरोपों के कारण श्री इंद्रदेव राम प्रभारी अंचल अधिकारी विभूतिपुर समस्तीपुर को निलंबित करने की अनुशंसा के साथ उनकी सेवा उनके प्रतीक विभाग- उद्योग विभाग बिहार पटना को वापस की जाती है|

रिपोर्ट- रंजीत कुमार 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY